राज्य में आईटीआई को मिला कम प्रतिसाद

राज्य में आईटीआई को मिला कम प्रतिसाद

Rohit Kumar Tiwari | Updated: 08 Aug 2019, 11:32:29 AM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

  • तीसरे राउंड के बाद भी खाली हैं 73 हजार 610 सीटें
  • 1 लाख 42 हजार 146 सीटों के लिए दोगुने से ज्यादा छात्रों ने कराया था पंजीकरण
  • विद्यार्थियों का रुझान हुआ कम

मुंबई. राज्य में सरकारी और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में तीसरे दौर के बाद कुल 68 हजार 536 छात्रों ने दाखिला लिया है, जबकि बड़ी संख्या में अभी भी सीटें खाली पड़ी हैं। हालांकि तीसरे राउंड में दूसरे राउंड की तुलना में छात्रों से बेहतर प्रतिसाद मिला है, लेकिन छात्रों के कम रुझान के चलते आईटीआई में 73 हजार 610 सीटें खाली हैं। तीसरे राउंड के लिए चयनित प्रक्रिया में 56 हजार 101 छात्रों में से 20 हजार 945 छात्रों को प्रवेश दिया गया है। हालांकि छात्रों ने आईटीआई प्रवेश के लिए बहुत अधिक पंजीकरण किया था, फिर भी प्रवेश के प्रति उनका काम ही देखने को मिला। राज्य में 1 लाख 42 हजार 146 सीटों के लिए 2 लाख 58 हजार 628 छात्रों ने पंजीकरण कराया था। उनमें से 2 लाख 40 हजार 799 छात्रों ने व्यापार के लिए विकल्प भरे थे। वहीं पहले दौर में 80 हजार 134 छात्रों का चयन किया गया था।

छात्रों का बहुत कम मिला रुझान...
विदित हो कि चयनित छात्रों में से केवल 33 हजार 224 छात्रों को ही प्रवेश दिया गया था। इससे दूसरे राउंड के लिए काफी जगह बची थी। आईटीआई की दूसरी गुणवत्ता सूची 19 जुलाई को शाम 5 बजे जारी की गई। इनमें से 52 हजार 147 छात्रों को प्रवेश के लिए चुना गया था। वहीं चयनित छात्रों में से केवल 14 हजार 367 छात्रों ने प्रवेश लिया था। इसी तरह तीसरा राउंड भी 30 जुलाई को समाप्त हो गया और इसके लिए 56 हजार 101 छात्रों को इस राउंड के लिए चुना गया। उनमें से 20 हजार 945 छात्रों ने प्रवेश लिया। इसलिए प्रवेश प्रक्रिया में नामांकन करते समय आईटीआई को छात्रों द्वारा सबसे अधिक विकल्प दिया गया था, लेकिन प्रवेश के लिए छात्रों का बहुत कम रुझान मिला।

 

तीसरे राउंड में लिया अच्छा प्रतिसाद...
वहीं तीसरे दौर के बाद लगभग 68 हजार 536 छात्र आईटीआई में प्रवेश लिया। वहीं व्यापार शिक्षा और प्रशिक्षण निदेशालय की माने तो इनमें से 54 हजार 978 छात्रों को सरकारी संस्थानों में प्रवेश दिया गया, जबकि 13 हजार 558 छात्रों ने निजी संस्थानों में प्रवेश मिला। तीन राउंड में आईटीआई लेने वाले छात्रों की संख्या 68 हजार हो गई है, तीसरे दौर में आईटीआई में प्रवेश करने वाले छात्रों का अनुपात पहले दो राउंड की तुलना में अधिक है। राज्य भर आईआईटी की सरकारी संस्थाओं में 92 हजार 710, जबकि निजी में 49 हजार 436 सीटें हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned