मोदी को चोर कह काले झंडे दिखाने वाले एनएसयूआइ कार्यकर्ताओं की हुई पिटाई,पांच गंभीर रूप से घायल

मोदी को चोर कह काले झंडे दिखाने वाले एनएसयूआइ कार्यकर्ताओं की हुई पिटाई,पांच गंभीर रूप से घायल
nsui file photo

Prateek Saini | Updated: 09 Jan 2019, 10:08:13 PM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

सोलापुर में केंद्र सरकार की कुछ परियोजनाओं के भूमिपूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को शहर में थे...

(मुंबई): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को काले झंडे दिखाकर चोर कहने वाले कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के पांच कार्यकर्ताओं की बुरी तरह से पिटाई की गई है। इन युवकों की लात-घूंसों से पिटाई करने वाले पुलिस कर्मचारी हैं या भाजपा के कार्यकर्ता, इस बात का खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है। पिटाई का शिकार हुए 5 छात्रों में से एक की हालत नाजुक बताई जा रही है।


सोलापुर में केंद्र सरकार की कुछ परियोजनाओं के भूमिपूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को शहर में थे। सभा स्थल से कुछ दूरी पर जब प्रधानमंत्री का काफिला पंहुचा तो एनएसयूआइ के कुछ कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। ये कार्यकर्ता पीएम के काफिले को काले झंडे दिखाकर ‘प्रधानमंत्री चोर है’ के नारे लगाने लगे। इस पर वहां जमा कुछ लोगों ने उन्हें घेर लिया और लात-घूंसों से उनकी पिटाई शुरू कर दी। काफी देर बुरी तरह पीटे जाने के बाद उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पिटाई का शिकार हुए 5 छात्रों में से एक की हालत नाजुक बताई जा रही है।

 

नेता विपक्ष व विधायक बिफरे

प्रधानमंत्री के काफिले को एनएसयूआई के कई छात्र काले झंडे दिखा रहे थे। पिटाई शुरू होते ही कई फरार हो गए लेकिन, 5 छात्र घेरे में आ गए, जिनमें गणेश डोगरे, निवृति गवाह्ने, शुभम माने, शिवराज विराजदार तथा सिद्धराम सगरे की बुरी तरह से पिटाई हुई है। कांग्रेस की स्थानीय विधायक परणिति शिंदे ने कहा की पुलिस सुबह से ही कांग्रेस के कई नेताओं को हिरासत में लिया और कई नगरसेवकों को क्षेत्र से दूर रखा। राजनीतिक पार्टियों की स्वतंत्रता पर भी भाजपा सरकार लगाम लगा रही है। यह घटना लोकतंत्र पर आघात है। वहीं, विधानसभा में विपक्ष नेता राधकृष्ण विखे पाटिल ने इसे लोकतंत्र का हनन बताया। उन्होंने कहा कि अपने अधिकारों का दुरुपयोग कर सरकार छात्रों की पिटाई करावा रही है। कांग्रेस इसका विरोध करती है। हम सत्ता में इतने वर्षों तक रहे लेकिन, कभी ऐसे कृत्य नहीं किए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned