maha News corona : 20 अप्रैल से पटरी पर उद्योग- मुख्यमंत्री

उद्योग ( Industries) को पटरी पर लाने की कवायद तेज 20 अप्रैल (april) से ऑरेंज और ग्रीन जोन में उद्योग कारखाने (Industries) शुरू होंगे। मुम्बई(mumbai) । कोरोना (corona) वायरस (virus) के चलते राज्य में ठप पड़े उद्योग क्षेत्र को सरकार (government) आगामी 20 तारीख से धीरे धीरे शुरू करने के प्रयास में है । शुक्रवार को मुख्यमंत्री (cm)उद्धव ठाकरे और उद्योग मंत्री सुभाष देसाई के बीच इस विषय पर बैठक हुई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि उद्योग क्षेत्र को बड़े पैमाने पर हो रहे नुकसान को देखते हुए सरकार

By: Ramdinesh Yadav

Updated: 18 Apr 2020, 01:39 AM IST

मुम्बई । कोरोना वायरस के चलते राज्य में ठप पड़े उद्योग क्षेत्र को सरकार आगामी 20 तारीख से धीरे धीरे शुरू करने के प्रयास में है । शुक्रवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उद्योग मंत्री सुभाष देसाई के बीच इस विषय पर बैठक हुई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि उद्योग क्षेत्र को बड़े पैमाने पर हो रहे नुकसान को देखते हुए सरकार ने इस पर रणनीति बनाई है। आगामी 20 तारीख से राज्य के ऑरेंज और ग्रीन जोन इलाकों में अर्थात जहां पर कोरोना का प्रभाव निम्न और नही है। उन क्षेत्रों में उद्योग धंधों को बहाल करने का विचार सरकार ने बनाया है। इस संदर्भ में उद्योग विभाग ने एक रिपोर्ट भी बनाई है।


इससे पहले राज्य के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई के साथ अलग अलग क्षेत्र के अधिकारियों की बैठेक हुई हैं । उन्होंने बताया कि 20 अप्रैल से कई ठिकानों पर उद्योग को गति दी जा सकेगी । इस बारे में राज्य के उद्योग विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जहां कोरोना नही है वहां तो तेज गति से उद्योग शुरू होगा।
महा मुंबई के 9 महानगर पालिका, पुणे, पिंपरी चिंचवड और नागपुर ऐसे कुल 12 शहरों को रेड झोन में रखा गया है । इन शहरों में खाद्य सामग्री के सप्लाई के शिवाय कोई बड़े उद्योग धंधे को शुरू करने की बिल्कुल योजना नहीं है । बाकी ऑरेंज झोन और ग्रीन झोन के शहरों में उद्योग को तेजी से बढ़ाया जाएगा । खासकर कृषि, फ़ूड प्रोसेसिंग, कपड़ा , खादान उद्योग, चीनी उद्योग आदि को बढ़ावा मिलेगा। जरूरत पड़ी तो एम आई डी सी क्षेत्र में कमर्चारियों को अस्थायी रूप से रहने की व्यवस्था भी की जाएगी। जिन कारखाने में लेबर को रहने और कोरोना से सुरक्षा देने की क्षमता है उन्हें भी शुरू करने की अनुमति दी जाएगी।

रेड जोन में मुंबई,ठाणे ,नवी मुंबई, कल्याण डोंबिवली, मीरा भाईंदर,वसई-विरार, पनवेल,उल्हासनगर,भिवंडी निजामपूूर, पुणे, पिंपरी-चिंचवड, नागपूर शमिल है

ऑरेंज झोन में रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, सातारा, कोल्हापूर, नाशिक, अहमदनगर, अकोला, यवतमाळ, बुलढाणा, वाशिम, गोंदिया, जळगाव, उस्मानाबाद, बीड, जालना, हिंगोली, लातूर, अमरावती शामिल है

ग्रीन जोन में धुळे, नंदूरबार, सोलापूर, वर्धा, परभणी, नांदेड, चंद्रपूर, भंडारा, गडचिरोली आदि जिले शामिल हैं।

Ramdinesh Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned