maha politics : भाजपा को झटका देने की तैयारी में शिवसेना

कांग्रेस (congress) आलाकमान ने भी शिवसेना (shivsena) के समर्थन को लेकर भरी हामी
पवार से मिलें पहुचे राउत (sanjay raut), भाजपा (bjp)को सत्ता से दूर रखने के लिए कांग्रेस भी शिवसेना के साथ

मुंबई। विधानसभा चुनाव नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री पद और सत्ता में 50 -50 हिस्सेदारी को लेकर भाजपा- शिवसेना में चल रही खींचतान में शिवसेना अब भाजपा को झटका देने की तैयारी में है। सत्ता स्थापन में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी नहीं मिलने और भाजपा की ओर से नजरअंदाज किए जाने से नाराज होकर आघाडी दलों के साथ संपर्क बढ़ा दिया है।महायुति को तोड़कर भाजपा को छोड़ने की तैयारी में शिवसेना ने विचार किया है मामले को टटोलने के लिए शिवसेना के नेता एनसीपी नेता से मुलाकात कर रहे हैं
गुरुवार को शिवसेना विधायक दल की बैठक में पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने जहां भाजप के रवैए को लेकर दुःख व्यक्त किया हैं तो वहीं शाम को शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से मिलने पहुंचे। शिवसेना के इस कदम से भाजपा कि सांसे अटकना तय हैं। तो दूसरी तरफ भाजपा निर्दलीय विधायकों की फ़ौज जुटा रही है। ऐसे में अब राज्य की राजनीती में नया मोड़ आ रहा हैं।

पवार से राउत की मुलाकात
शिवसेना नेताओं की माने तो पार्टी अपने वसूलों के साथ समझौता नहीं करेगी। शायद यही वजह रही है कि उद्धव के साथ बैठक समाप्त होने के पश्चात् ही राउत सीधे पवार के पास मिलने पहुचे।पवार के साथ लगभग आधा घंटे तक चर्चा के बाद राउत बहार निकले। इन दोनों के मुलाकात को लेकर राज्य कि राजनीति में कई कयास लगाये जा रहे हैं। हालांकि राउत ने इसे व्यक्तिगत मुलकात बताया है।

स्वाभिमान के साथ खिलवाड़ नहीं - उद्धव
शिवसेना अपने स्वाभिमान के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं करना चाहती है। बैठक में उद्धव ठाकरे ने विधायकों को साफ कहा कि हम तब तक इंतजार करेंगे जब तक भाजपा शपथ विधि के लिए राज्यपाल को पत्र नहीं दे देती है। यदि भाजपा ने इस मामले में शिवसेना से कोई राय नहीं ली और शिवसेना को महत्व नहीं दिया तो हम अपने कदम पीछे ले लेंगे। भाजपा को सरकार बनाने देंगे। इसके बाद शिवसेना क्या निर्णय लेगी यह तो समय बताएगा।

कांग्रेस आलाकमान को भी भाया शिवसेना को समर्थन
शिवसेना के समर्थन को लेकर कांग्रेस और एनसीपी की आघाडी भी सकारात्मक संकेत दे चुकी हैं। गुरुवार को कांग्रेस के केंद्रीय आलाकमान ने भी शिवसेना को समर्थन देने की बात को सही दिशा बताते हुए हामी भर दी है। सूत्रों की माने तो एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से फोन पर बातचीत की , राज्य की स्थिति की जानकारी दी। शिवसेना को समर्थन को लेकर सोनिया गांधी ने भी हामी भर दी है। भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए कांग्रेस एनसीपी शिवसेना के समर्थन में खड़ी है

Ramdinesh Yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned