scriptMaharashtra: ED's action in FSI scam of 1034 crores | महाराष्ट्र: 1034 करोड़ के एफएसआई घोटाले में ईडी की कार्रवाई | Patrika News

महाराष्ट्र: 1034 करोड़ के एफएसआई घोटाले में ईडी की कार्रवाई

11.15 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क, राउत की पत्नी का फ्लैट व प्लॉट शामिल

पाटकर की कंपनी में राउत की बेटियां हैं निदेशक

मुंबई

Updated: April 06, 2022 12:31:17 am

मुंबई. गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के 1034 करोड़ रुपए के कथित एफएसआइ घोटाले से जुड़े मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को 11.15 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की। इसमें गुरु आशीष के डायरेक्टर रहे प्रवीण राउत की नौ करोड़ रुपए और शिवसेना सांसद (राज्यसभा) के परिवार की दो करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी शामिल है। राउत की पत्नी वर्षा का फ्लैट (दादर) व अलीबाग के किहिम बीच स्थित भूखंड (प्लॉट) अटैच किया गया है। जब्त प्लॉट वर्षा और कारोबारी सुजीत पाटकर की पत्नी स्वप्ना के नाम है।

महाराष्ट्र: 1034 करोड़ के एफएसआई घोटाले में ईडी की कार्रवाई
महाराष्ट्र: 1034 करोड़ के एफएसआई घोटाले में ईडी की कार्रवाई

प्रवीण और पाटकर शिवसेना प्रवक्ता राउत के करीबी हैं। पाटकर की कंपनी में राउत की बेटियां डायरेक्टर हैं। अलीबाग में प्रवीण का भूखंड भी कुर्क किया गया है। मनी लांड्रिंग के तहत ईडी ने चार फरवरी को प्रवीण को गिरफ्तार किया था। जांच में पता चला है कि पीएमसी बैंक के 4300 करोड़ के घोटाले की आरोपी एचडीआइएल से प्रवीण को 100 करोड़ रुपए मिले थे। प्रवीण ने इसमें से करोड़ों रुपए अपनी अन्य कंपनियों, करीबियों और परिवार के सदस्यों को दिए। इसमें शिवसेना सांसद का परिवार भी शामिल है। संदेह है कि घोटाले की रकम से जमीन खरीदी गई।

झुकूंगा नहीं: राउत
ईडी की कार्रवाई पर राउत ने कहा कि मैं बालासाहेब ठाकरे का चेला हूं। चाहे गोली मार दो, न झुकुंगा-न चुप ही बैठूंगा। सारे आरोप निराधार हैं। मेहनत की कमाई से 2009 में अलीबाग में प्लॉट खरीदा था। भाजपा बदले की कार्रवाई कर रही है। महाविकास आघाडी सरकार गिराने में सहयोग नहीं करने पर मुझे पहले ही धमकी मिली थी। उन्होंने उप-राष्ट्रपति को पत्र भी लिखा था।

यह है मामला
एफएसआइ घोटाले में फंसी गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन एचडीआइएल की सहायक है। गुरु आशीष को गोरेगांव पश्चिम स्थित पात्रा चॉल के रिडवलपमेंट का काम म्हाडा ने दिया था। दावा है कि डील में प्रवीण मध्यस्थ थे। करार के तहत पात्रा चॉल के 672 परिवारों को फ्लैट देना था। इसके बाद गुरु आशीष बिक्री के लिए बिल्डिंग बना सकती थी। चॉल के लोगों का घर बनाए बिना ही गुरु आशीष ने अपनी एफएसआइ आठ बिल्डरों को बेच दी। इसी में 1034 करोड़ का घोटाला हुआ। म्हाडा की शिकायत पर कंपनी के खिलाफ मार्च, 2018 में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.