Maharashtra Lock down . 4 : दर्दनाक : भूख-प्यास से तड़पकर प्रवासी मजदूर की मौत

पी एम रिपोर्ट पश्चात चिकित्सक ने की पुष्टि, अधिकारी ने कहा, 'बाद में शव परीक्षण होने पर पता चला कि अत्यधिक चलने, भूख और शरीर में पानी की कमी होने के कारण 17 मई के आसपास उसकी मौत हो गई थी

By: Binod Pandey

Published: 21 May 2020, 05:20 PM IST

पुणे. पैदल चलकर परभणी अपने पैतृक स्थान जा रहे चालीस वर्षीय प्रवासी मजदूर की भूख और प्यास से मौत हो गई। अंभोरा पुलिस थाने के सहायक निरीक्षक ज्ञानेश्वर कुकलारे ने बताया कि बीड जिले के धनोरा गांव में पिंटू पवार अपने निवास स्थान से करीब 200 किलोमीटर दूर मृत पाया गया।

अधिकारी ने कहा, 'बाद में शव परीक्षण होने पर पता चला कि अत्यधिक चलने, भूख और शरीर में पानी की कमी होने के कारण 17 मई के आसपास उसकी मौत हो गई थी।' मृतक परभणी जिले के एक गांव का रहने वाला था और गन्ने के खेत में काम करता था लेकिन लॉकडाउन लागू होने के बाद वह पुणे में अपने भाई के घर रहने चला गया था।

श्रमिक कई किलोमीटर चलकर धनोरा पहुंचा

इसके बाद उसने अपने गांव जाने का निश्चय किया ओर वह पैदल निकल पड़ा ओर अहमदनगर पहुंचा। श्रमिक के पास मोबाइल फोन नहीं था इसलिए उसने किसी अन्य व्यक्ति के फोन से 16 मई को अपने घर पर संपर्क किया. अधिकारी ने बताया कि वहां से श्रमिक 30-35 किलोमीटर चलकर धनोरा पहुंचा और टिन के एक शेड के नीचे आराम करने लगा।

सोमवार को, वहां से गुजरने वाले राहगीरों को बदबू आई तो उसने पुलिस को इसकी सूचना दी। अधिकारी ने कहा कि पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो वहां पवार को मृत पाया. उन्होंने कहा कि शव परीक्षण के बाद मृतक के परिजनों से बातचीत कर धनोरा ग्राम पंचायत और पुलिस ने मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया।

Binod Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned