Maharashtra News : कोरोना मरीजों को दवाई, भोजन-पानी मुहैया करा रहा रोबोट

  • नवाचार: स्वास्थ्य कर्मियों को संक्रमण से बचाने की पहल
  • अस्पताल के वार्ड ब्वाय और नर्स खुश
  • कमरे के बाहर से किया जाता है कंट्रोल

By: Binod Pandey

Published: 10 Jul 2020, 07:26 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुंबई. कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या से जुड़ी चिंता के बीच देश में कई नवाचार हुए हैं। इनमें कोविड-19 की टेस्टिंग किट से लेकर रोबोट ट्रॉली तक शामिल हैं। स्वास्थ्य कर्मियों को संक्रमण से बचाने के लिए कुछ अस्पताल रोबोट ट्रॉली का इस्तेमाल कर रहे हैं। दक्षिण मुंबई के वर्ली स्थित पोद्दार हॉस्पिटल में रोबोट ट्रॉली की सहायता ली जा रही है। अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों तक दवाई के साथ भोजन-पानी रोबोट के माध्यम से पहुंचाया जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन के इस फैसले से सबसे ज्यादा खुश नर्स और वार्ड ब्वाय हैं। रोबोट की सेवा उपलब्ध होने के बाद उन्हें कोविड वार्ड में जाने की जरूरत बहुत कम पड़ती है। कोरोना मरीजों के संपर्क में आने से उनके संक्रमित होने का खतरा टल गया है।


बीएमसी के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि गोलार नामक रोबोट के जरिए मरीजों तक दवाई, खाना, पानी और चाय पहुंचाई जा रही है। कोविड वार्ड के बाहर एक कर्मचारी की ड्यूटी होती है। यह कर्मचारी रोबोट के ट्रे में जरूरी चीजें रख देता है। इसके बाद अस्पताल के कंट्रोल रूम से रोबोट का संचालन किया जाता है। जैसे ही रोबोट बेड के पास खड़ा होता है, मरीज जरूरत की चीजें उसके ट्रे से ले सकते हैं। पुणे और कल्याण-डोंबिवली के कुछ अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों के लिए रोबोट की सेवाएं ली जा रही हैं।

बैटरी का इस्तेमाल
गोलर रोबोट बैटरी से चलता है। एक बार चार्ज होने के बाद यह चार-पांच घंटे सेवा देता है। कोविड वार्ड से 100 मीटर की दूरी से इसका संचालन किया जाता है। बहुत जरूरी होने पर ही कोरोना वार्ड में नर्स और वार्ड ब्वाय जाते हैं। यह रोबोट स्टार्टअप के तहत बीएमसी के इंजीनियरों के सहयोग से बनाया गया है।

Maharashtra News : कोरोना मरीजों को दवाई, भोजन-पानी मुहैया करा रहा रोबोट

अधिकारी का नाम
बीएमसी के जी दक्षिण विभाग के सहायक आयुक्त शरद उघडे ने बताया कि क्षेत्र के चिकित्साधिकारी देवेंद्र गोलार हैं। उन्हीं के नाम पर इस रोबोट को गोलार नाम दिया गया है। फिलहाल हम प्रायोगिक आधार पर इसका इस्तेमाल कर रहे हैं।

उन्नत बनाएंगे
उघडे ने बताया कि आगे चल कर गोलार रोबोट में मेडिकल उपकरण लगाए जाएंगे। इसमें टैब भी फिट किया जाएगा। इसके माध्यम से मरीजों से डॉक्टर सीधे बातचीत कर सकते हैं। मरीजों के ऑक्सीजन का स्तर और शरीर का तापमान भी रोबोट ही जांचेगा। अन्य कोरोना केयर सेंटर पर भी इसकी सेवाएं ली जाएंगी।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned