scriptMaharashtra Political Crisis: Shinde camp is very powerful | Maharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करना | Patrika News

Maharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करना

शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे के साथ विधायकों को देखने से पता चलता है कि शिवसेना के भीतर बागी नेता का जुड़ाव कितना मजबूत है और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को अपनी पार्टी को दोबारा खड़ी करने में कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

मुंबई

Published: June 27, 2022 06:46:13 pm

महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार के अस्तित्व को खतरे में डालने वाले शिंदे खेमे को सुप्रीम कोर्ट से सोमवार को बड़ी राहत मिली है। दरअसल शिवसेना के बागी मंत्री एकनाथ शिंदे ने अपने तथा 15 अन्य बागी विधायकों को विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल द्वारा भेजे गये अयोग्यता नोटिस के खिलाफ रविवार को शीर्ष कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जिस पर आज जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस जे बी पारदीवाला की अवकाश पीठ ने सुनवाई की और अयोग्यता नोटिस का जवाब देने के लिए 16 असंतुष्ट विधायकों को डिप्टी स्पीकर द्वारा दिए गए समय को 11 जुलाई तक बढ़ा दिया।
Uddhav Thackeray-Eknath Shinde.jpg
Uddhav Thackeray-Eknath Shinde
दूसरी तरफ शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे के साथ विधायकों को देखने से ही पता चल रहा है कि शिवसेना के भीतर बागी नेता का जुड़ाव कितना ताकतवर है और उद्धव ठाकरे को शिवसेना को दोबारा खड़ा कर पड़ा बड़ा मुश्किल नजर आ रहा है। सूत्रों का कहना है कि पार्टी के लिए मुख्य चिंता यह है कि अधिकांश बागी विधायक न केवल अपने निर्वाचन क्षेत्रों में एक ताकत हैं, बल्कि जिलों में पार्टी को मजबूत करने में एक प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं।
यह भी पढ़ें

Maharashtra Political Crisis: क्या महाराष्ट्र में दो-तीन दिनों में सरकार बना लेगी बीजेपी? यहां पढ़ें पूरा समीकरण

इनमें से ज्यादातर विधायक कम से कम तीन बार चुनाव जीत चुके हैं। इन बागी विधायकों में से कईयों ने अपने क्षेत्रों में शिवसेना को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाई है। उनके इस योगदान को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। ऐसे निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी का आधार फिर से बनाना मुख्यमंत्री के लिए आसान नहीं होगा।
कोल्हापुर से मौजूदा विधायक प्रकाश अबितकर और कम से कम पांच पूर्व विधायक एकनाथ शिंदे के साथ हैं। जलगांव के भी चार विधायक शिंदे खेमा ज्वाइन कर लिया हैं। शिवसेना के गढ़ औरंगाबाद के निर्वाचित प्रतिनिधि भी एकनाथ शिंदे के साथ हैं। शिवसेना के गढ़ कोंकण क्षेत्र के विधायक भी शिंदे को अपना समर्थन दे रहे हैं।
शिवसेना के एक सदस्य ने कहा कि बागी विधायकों का अपने निर्वाचन क्षेत्रों में काफी अच्छी पकड़ है और वे स्थानीय कार्यकर्ताओं और मातोश्री को जोड़े रखने का काम करते थे। इन सभी क्षेत्रों में इन विधायकों के साथ शिवसेना का अच्छा विकास हुआ है। इन नेताओं के समर्थक बड़ी संख्या में है।
बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुवाहाटी में डेरा डाले हुए अपने नौ बागी मंत्रियों के विभाग छीन लिए है और उसे अन्य मंत्रियों व अन्य विधायको को आवंटित कर दिया हैं। सीएमओ ने एक बयान जारी कर बताया कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किया ताकि जनहित के मुद्दों की उपेक्षा या अनदेखी न हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार मुख्यमंत्री और तेजश्वी यादव डिप्टी सीएम पद की कल दोपहर 2 बजे लेंगे शपथनीतीश ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, कहा- हमें 164 विधायकों का समर्थनरवि शंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से पूछा बीजेपी के साथ क्यों आए थे? पीएम मोदी के नाम पर आपको जीत मिली, ये कैसा अपमान?'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपBihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चाBihar Politics: 2024 में नीतीश कुमार नहीं होंगे विपक्ष के पीएम उम्मीदवार, कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर खोला राजChandrapur: बाघ के आतंक से कांप उठा महाराष्ट्र का चंद्रपुर जिला, 23वां इंसान बना शिकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.