Maharashtra Politics : उद्धव का संकेत : धीर-धीरे खुलेगा लॉकडाउन

  • मुख्यमंत्री उद्धव ( c.m. Uddhav ) बोले : सर सलामत ( Head safe ) रहा तो पगड़ी पचास
  • कोविड-19 ( Covid-19 ) ने बहुत कुछ सिखाया, इसके साथ जीने की आदत डालनी होगी
  • विपक्ष ( Opposition ) को भी तरेरी आंख ( Angry ) , बोले-यह राजनीति का वक्त नहीं

By: Binod Pandey

Published: 24 May 2020, 08:45 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले दो महीने से जारी लॉकडाउन को धीरे-धीरे खोलने का संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि अभी मैं कुछ नहीं कह सकता कि लॉकडाउन पूरी तरह कब हटेगा। लेकिन, यह तय है कि जरूरत के हिसाब से सरकार ढील देगी और जीवन की गाड़ी पटरी पर लाने का प्रयास करेगी। उद्धव ने कहा कि अब हम सबको कोविड-19 के साथ जीने कि आदत डालनी होगी। कोरोना ने हमें बहुत कुछ सिखाया है। सोशल मीडिया पर जनता को संबोधित करते हुए उद्धव ने रविवार को यह बातें कहीं। मजदूरों, गरीबों और किसानों के लिए विशेष पैकेज घोषित करने से जुड़ी विपक्ष की मांग का उद्धव ने करारा जवाब दिया। राजनीति करने का समय नहीं है। हमें समझने की जरूरत है कि सर सलामत रहा तो पगड़ी पचास होगी। आम लोगों से उन्होंने अपील की कि कोरोना बीमारी को छिपाएं नहीं। डॉक्टर की सलाह से अस्पताल जाएं और अपना टेस्ट कराएं।

मुुख्यमंत्री ने बताया कि हमारी सरकार राज्य की अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने की कोशिश कर रही है। ग्रीन और ऑरेंज जोन में 50 हजार कारखाने शुरू किए गए हैं। फिल्म निर्माण, कॉरपोरेट ऑफिस आदि खोलने पर विचार चल रहा है। इसके लिए आवाजाही की सुविधा चाहिए। हम केंद्र सरकार से अनुरोध करेंगे कि मुंबई और पुणे में जरूरी सेवाओं के लिए लोकल ट्रेन सेवा बहाल की जाए।

नए मामले बढ़ेंगे, घबराएं नहीं
उद्धव ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए हम बड़े पैमाने पर लोगों का टेस्ट करा रहे हैं। स्वभाविक है कि संक्रमण के मामले बढ़ेंगे। इससे घबराने की जरूरत नहीं है। राज्य सरकार कोरोना से बचाव के साथ ही संक्रमितों के उपचार की व्यवस्था में जुटी है। हम फील्ड हॉस्पिटल की संकल्पना पर काम कर रहे हैं। मैदान में अस्पताल बना रहे हैं। बीकेसी के एमएमआरडीए ग्राउंड में 1026 बेड का अस्पताल शुरू हो चुका है। गोरेगांव के नेस्को ग्राउंड में 1240 बेड की क्षमता का कोरोना केयर सेंटर बनाया जा रही है, जिसमें 26 मई से मरीजों का उपचार शुरू होगा। नई व्यवस्था से हमें 14 हजार बेड मिलेंगे।

रक्तदान की अपील
ठाकरे ने कहा कि पूर्व आंकलन के हिसाब से राज्य में संक्रमितों की संख्या सवा लाख हो सकती थी। जनता के सहयोग और स्वास्थ्य कर्मियों की मेहनत का नतीजा है कि प्रदेश में 33 हजार कोरोना मरीज हैं। बड़ी संख्या में लोग ठीक हो रहे हैं। राज्य के ब्लड बैंकों में रक्त की कमी है। उन्होंने लोगों से रक्तदान करने की अपील की।

कोरोना के साथ जीना होगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी होगी। भविष्य में भी हमेशा हाथ धोना पड़ेगा-मास्क लगाना होगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। गर्मी की बीमारियों से बचे हैं। अब बारिश से जुड़ी बीमारियों से सतर्क रहना होगा। बारिश में भीगने से बचना होगा। गरम पानी पीने की आदत डालनी होगी।

यह भी पढ़े:-Coronavirus: अंतर्राष्ट्रीय जांच की मांग के आगे झुका चीन, कहा- इन्वेस्टिगेशन के लिए हम तैयार

यह भी पढ़े:-Joe Root का मानना है अलग, बोले- लार पर प्रतिबंध कर सकता है गेंदबाजों के पक्ष में काम

यह भी पढ़े:-कोरोना के कारण मस्जिदों में पसरा रहा सन्नाटा, पाबंदियों के बीच दुनियाभर में मुसलमानों ने मनाई ईद

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned