Maharashtra Politics : महाराष्ट्र में ऑपरेशन कमल सफल नहीं होगा : पवार

- देवेंद्र फड़णवीस के दावे को बताया झूठा
-बगैर शिवसेना वाली सरकार चाहती थी भाजपा
-उद्धव ठाकरे के काम करने का तरीका हमसे अलग
- केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए

By: Binod Pandey

Published: 14 Jul 2020, 12:17 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुंबई। राजस्थान की राजनीति में उठापठक को लेकर एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने कहा कि भाजपा का ऑपरेशन कमल सत्ता का दुरुपयोग है। महाराष्ट्र में ऑपरेशन कमल सफल नहीं होगा। महाविकास आघाडी सरकार पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा करेगी। पवार ने ये बातें शिवसेना के मुखपत्र सामना के लिए सांसद संजय राउत को दिए साक्षात्कार की तीसर कड़ी में कही। उन्होंने विधानसभा चुनाव के बाद राÓय में फड़णवीस की 72 घंटे की सरकार को लेकर बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि एनसीपी ने सत्ता के लिए भाजपा के साथ कभी चर्चा नहीं की। इसके विपरीत भाजपा ने ही एनसीपी से बगैर शिवसेना वाली सरकार के लिए साथ मांगा था। पवार के इस बयान के साथ ही भाजपा नेतृत्व वाली फड़णवीस सरकार दो बनने और गिरने को लेकर एक बार फिर चर्चा गर्मा गई है ।

शिवसेना के बगैर सरकार बनाना चाहती थी भाजपा

उन्होंने कहा कि भाजपा नेताों ने दो से तीन बार कहा था कि शिवसेना को दूर रखकर सत्ता स्थापित करना है। जबकि हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चर्चा कर साफ कहा था कि जाएंगे तो शिवसेना के साथ, नहीं तो विपक्ष में बैठेंगे। शरद पवार के इस खुलासे से पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के दावे की हवा निकल गई है। फड़णवीस ने कहा था कि एनसीपी ने उन्हें सरकार बनाने के लिए समर्थन देने की बात स्वीकार की थी। लेकिन शरद पवार अपनी बातों से पलट गए ।

पीएम को भी हमने बताया था

भाजपा ने बगैर शिवसेना वाली स्थिर सरकार बनाने के लिए हमसे समर्थन मांगा था। मेरे प्रधानमंत्री मोदी से अ'छे संबंध हैं। इसलिए उस समय प्रधानमंत्री को हस्तक्षेप करना चाहिए था ।तब मैं अपनी सहमति देता । ऐसी मेरी अपेक्षा भी थी। एनसीपी के बारे में किसी भी सोर्स से कोई गलत जानकारी पीएम तक नहीं जाए। इसलिए मैं खुद उनसे मिलने गया और उन्हें बताया कि मैं शिवसेना के साथ जाऊंगा,अन्यथा विपक्ष में बैठूंगा। इस बात की जानकारी संजय राउत को भी थी।

ऑपरेशन कमल
उन्होंने भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार महाराष्ट्र में महाविकास आघाड़ी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए अपनी शक्ति का दुरुपयोग कर रही है। लेकिन वह सफल नहीं होगी। भाजपा के लोग महाराष्ट्र में भी महागठबंधन सरकार को उखाड़ फेंकना चाहते हैं। उनके दिमाग में क्या है। यह समझा जा सकता है।

महाराष्ट्र में पांच वर्ष चलेगी सरकार

उन्होंने व्यंग कसते हुए कहा कि ये( भाजपा) लोग महाविकास आघाडी सरकार को पहले तीन माह में गिराने की बात करते थे। अब छह माह में सरकार को उखाड़ फेंकने की बात कह रहे हैं। 'ऑपरेशन कमल' से महाराष्ट्र में कोई फर्क नहीं पड़ेगा।" यहां की सरकार पूरे पांच वर्ष का कार्यकाल आसानी से पूरा करेगी।


उद्धव के काम का तरीका अलग
उद्धव ठाकरे के काम करने का तरीका हमसे अलग है।वे शिवसेना स्टाइल से काम करते हैं। हम शिवसेना को स्थापना से ही देख रहे हैं। शिवसेना में कोई आदेश आता है और उसे पार्टी में तुरंत लागू किया जाता है। जबकि कांग्रेस और एनसीपी की काम करने की पद्धति अलग है।हम वरिष्ठों की राय का सम्मान करते हैं। यदि किसी वरिष्ठ ने कोई राय दी तो हम उसके बारे में चर्चा या विचार करते हैं।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned