नारी को पुरुष बनाने वाले, नारी को नारी ही रहने दे

महिलाओं को रोल मॉडल के लिए प्रेरित कर रहा अभियान-राजश्री बिड़ला

By: Devkumar Singodiya

Published: 29 Mar 2019, 05:37 PM IST

मुंबई. राजस्थानी महिला मंडल की ओर से वाइ. बी. चह्वाण सभागृह में जागृति सम्मेलन अभियान अंतर्गत मैं नारी हूं कार्यक्रम में समारोह अध्यक्ष राजस्थानी महिला मंडल की ट्रस्टी राजश्री बिड़ला ने कहा कि संस्था महिलाओं के स्वाभिमान के लिए बेहतर कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि मैं नारी हूं अभियान महिलाओं को रोल मॉडल की ओर प्रेरित करती है। संस्था अध्यक्ष उर्मिला रूंगटा ने कहा कि नारी आंदोलन के नाम पर महिलाओं को गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नारी ईश्वर की अद्भुत कृति है। दया, कोमल, सहजता, निश्छल जैसे अनमोल गुणों से ईश्वर ने नवाजा है। इन गुणों के कारण ही नारी अपमान सहकर भी खड़ी रहती है। रूंगटा ने कहा कि नारी को सशक्त बनाने की बात होती है मगर नारी अशक्त कब थी। नारी को पुरुष बनाने की बात करने वाले नारी को नारी ही रहने दें क्यों कि नारी पुरुषों से हमेशा श्रेष्ठ थी और है। उन्होंने कहा कि नारी आंदोलन के नाम पर नारी अपने गुणों की तिलांजलि नहीं दे सकती।

महिला प्रतिभा सम्मान से सम्मानित

संस्था की ओर से मुख्य अतिथि सिंधुताई सकपाल को महिला प्रतिभा सम्मान से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सिंधुताई सकपाल ने आप बीती बताते हुए कहा कि जीवन में संघर्ष सफलता की ओर ले जाता है। समारोह में इलमा अफरोज (आईपीएस), सुष्मिता बूबना (दिव्यांग) व दौलत बी.खान (एसिड सरवाइवर) को उनके हौसलों के लिए सम्मानित किया गया। राजस्थानी महिला मंडल की सदस्यों ने महिला गौरव पर सामूहिक नृत्य प्रस्तुत किया।
कार्यक्रम का संचालन मंजू लोढ़ा ने किया। आभार प्रदर्शन अर्चना गुप्ता ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में समाज के विभिन्न वर्ग के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned