देश को स्वच्छ ,स्वस्थ और समृद्ध बनाए :श्रीमंत

पुणे . वारकरी संप्रदाय के श्रीमंत रमेशभाई व्यास ने अपने साप्ताहिक ऑन लाइन संदेश के दौरान समाज के युवाओं से आह्वान किया कि भारत देश केवल जमीन का टुकड़ा नहीं ,बल्कि एक जीवंत संस्कृति है ,एक महान दर्शन है ।

By: Binod Pandey

Published: 26 Jun 2020, 03:15 PM IST

पुणे . वारकरी संप्रदाय के श्रीमंत रमेशभाई व्यास ने अपने साप्ताहिक ऑन लाइन संदेश के दौरान समाज के युवाओं से आह्वान किया कि भारत देश केवल जमीन का टुकड़ा नहीं ,बल्कि एक जीवंत संस्कृति है ,एक महान दर्शन है ।

जिस दिन हम सत्यमेव जयते ,अहिंसा परमो धर्म, फल की इच्छा ना रखते हुए कर्म करते रहेंगे, वसुदेव कुटुंबकम जैसे सिद्धांतों को आत्मसात कर लेंगे उस दिन हमारे भीतर भारत देश की चेतना साकार हो उठेगी।

रमेशभाई ने युवाओं से संकल्प लेने का आह्वान करते हुए कहा कि हम देश को साफ सुथरा रखेंगे। हम विदेशों की स्वच्छता की तारीफ करते हैं ,वहां जाते हैं तो स्वच्छता का पूरा ध्यान रखते हैं ,फिर भारत में आकर वैसे के वैसे क्यों हो जाते हैं। स्वच्छता को लेकर खुद भी जागरूक रहें औरों को भी जागरूक करें और प्रशासन को भी सचेत करते रहे ।जिस दिन भारत में स्वच्छता आ जाएगी उस दिन हमारी इज्जत विश्व में 100 गुना बढ़ जाएगी।

संत प्रवर ने देश के नाम दूसरा संकल्प दिलाते हुए कहा कि हम भारत से भ्रष्टाचार का खात्मा करेंगे। यह कितने शर्म की बात है कि जिस भारत ने पूरे विश्व को नैतिकता का पाठ पढ़ाया आज वह खुद अनैतिकता से घीर गया है।

अब जरूरत यह है कि जैसे कभी अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा बुलंद हुआ था अब भ्रष्टाचार भारत छोड़ो का नारा बुलंद होना चाहिए। हमें संकल्प लेना चाहिए कि मुफ्त की दमड़ी और गोरी चमड़ी को देखकर नहीं फीसलेंगे, व्यसन और फैशन से दूर रहेंगे, मांसाहार का सेवन नहीं करेंगे।

चमड़े और इन सब चीजों से बनी वस्तुओं को नहीं खरीदेंगे। मांस निर्यात के नाम पर होने वाली पशु हत्या रोकेंगे। परिवार में सबको खुशियां बाटेगे और बच्चों को संयम, पर्यावरण रक्षा और जीवन रक्षा के पाठ पढ़ाएंगे।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned