गुरु दर्शन यात्रा में शामिल हुए कई श्रद्धालु

गुरु भक्ति : तेरापंथ सभा मुंबई की ओर से आयोजन
कन्याकुमारी में आचार्य महाश्रमण से आशीर्वाद

By: Chandra Prakash sain

Published: 29 Mar 2019, 11:08 PM IST


मुंबई. आचार्य महाश्रमण की तीन दिवसीय रास्ते की सेवा एवं गुरु दर्शन के लिए श्री जैन श्वेताम्बर तेरापंथी सभा मुंबई के श्रावक कन्याकुमारी सिंधु त्रय के तट पर पहुंचे। श्रावकों ने महाश्रमण से आशीर्वाद प्राप्त किया। आचार्य महाश्रमण ने अहिंसा यात्रा के रूप में सद्भावना, नैतिकता, और व्यसन मुक्त जीवन जीने की सलाह दी। साथ ही प्रवचन के दौरान आचार्य ने चतुरविध धर्मसंघ ने पूज्य प्रवर की अभीवंदना की। करीब 110 श्रावक समाज के साथ पूज्य प्रवर के चरणो में 2023 की चतुर्मास की कृतज्ञता ज्ञापन स्वीकार किया।
पूज्य प्रवर ने मुंबई तेरापंथ समाज को सौहार्द के साथ अच्छा कार्य करने की प्रेरणा दी व मुंबई में विराजित मुनि महेंद्र कुमार एवं सभी को अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए अच्छा कार्य करते रहे ऐसी मंगल कामना की। सभा के अध्यक्ष पूज्यप्रवर के रास्ते की सेवा में उपस्थित चेंबूर सभा के सदस्यों ने सुमधुर गीतिका के माध्यम से पूज्य प्रवर के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित की। 2023 मर्यादा महोत्सव व पूज्य प्रवर के संयम के 50वां साल 2023 में शुरू होने के उपलक्ष में मुंबई में बड़े कार्यक्रम करने की मांग की।
तेरापंथ सभा मुंबई के अ ध्यक्ष नरेन्द्र तातेड़ के नेतृत्व में अयोजित यात्रा की व्यवस्था में मुंबई सभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद बोहरा, सभा मंत्री विजय पटवारी, विष्णु बाफना, नरेंद्र सिंघवी, अजय डांगी, संदीप कोठारी, गौतम डागा, पुखराज सिरोहिया, सुनील इनटोदिया, पारस कोठारी, धीरज मेहता आदि शामिल हुए। कन्याकुमारी पूज्य प्रवर के चरणों में कृतज्ञता ज्ञापन करने के लिए सिरियारी संस्थान अध्यक्ष ख्यालीलाल तातेड, श्री तुलसी महाप्रज्ञ फाउंडेशन अध्यक्ष सुरेंद्र कोठारी अणुव्रत समिति अध्यक्ष रमेश चौधरी, किशनलाल डागलिया, रमेश धाकड़, जगदीश उमरिया, अर्जुन चौधरी, संदीप कोठारी, भूपेश कोठारी, महेश बाफना, कमलेश बोहरा, बी सी जी भलावत, बाबूलाल बाफना, माणक धींग, मदन लाल तातेड, डालचंद कोठारी, बाबूलाल समदरिया, नवरत्न गन्ना, योगेश चौधरी, महेंद्र तातेड, अशोक तातेड, शांतिलाल बरमेचा, विजय संचेती, मनोहर गोखरू, अरविंद धाकड़, संपत मादरेचा, ख्यालीलाल मादरेचा, भगवतीलाल पटवारी, प्यारचंद मेहता, कन्हैया लाल मेहता, गणपत डागलिया, घेवर सुराणा, देवीलाल श्रीमाल, अमृत खाटेड़, अर्जुन सिंघवी, ताराचंद बांठिया, नरेश परमार, पारस परमार, ख्याली लाल कोठारी, प्रकाश कोठारी, राजेंद्र मुनोट, गौतम कोठारी, महावीर कोठारी, ख्याली लाल कोठारी, शांतिलाल कोठारी, नरेश मादरेचा, सुंदर परमार, माणक डांगी, संपत चोरडय़िा, विमल सोनी, मूलचंद लोढ़ा, रमेश धोका, राजेश कोठारी आदि मौजूद रहे।

Chandra Prakash sain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned