scriptMore than 3000 suspected cases in Mumbai, 9 children died | मुंबई में 3000 से ज्यादा संदिग्ध केस, 9 बच्चों की मौत | Patrika News

मुंबई में 3000 से ज्यादा संदिग्ध केस, 9 बच्चों की मौत

locationमुंबईPublished: Nov 20, 2022 06:56:29 pm

सावधान: भारी पड़ी कोरोना काल की चूक
मीजल्स का टीका नहीं लगवाने बच्चों में ही खसरे का संक्रमण, हजारों को नहीं लग पाइ डोज

 भारी पड़ी कोरोना काल की चूक
भारी पड़ी कोरोना काल की चूक

मुंबई. तमाम कोशिशों के बावजूद आर्थिक राजधानी मुंबई में खसरे का फैलाव जारी है। गोवंडी में यह थोड़ा काबू में आया है जबकि कुर्ला, चेंबूर, भायखला व बांद्रा जैसे क्षेत्रों में फैला है। महाराष्ट्र महामारी विज्ञान (एपिडेमियोलॉजी) के प्रमुख डॉ. प्रवीण अवाटे ने कहा कि कोरोना काल में अधिकांश बच्चों को खसरे से बचाव का टीका नहीं लग पाया। अध्ययन से पता चला है कि जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी है, वही बच्चे इसकी चपेट में आ रहे हैं। कोरोना के चलते ढाई साल में हजारों बच्चों को डोज नहीं लग पाई। खसरे का प्रकोप इसी का नतीजा है। डॉ. अवाटे ने कहा कि माता-पिता को सजग होने की जरूरत है। जिन भी बच्चों को मीजल्स रोधी टीका नहीं लगा है, उन्हें वैक्सीन लगवानी चाहिए। जानकारों का कहना है कि राष्ट्रीय स्तर पर ऐहतियात बरतने की जरूरत है। क्योंकि खसरा फैलाने वाला वायरस संक्रामक है। मायानगरी में देश के हर कोने के लोग रहतेे हैं। यहां से लोगों की आवाजाही भी होती रहती है। ऐसे में अन्य क्षेत्रों में भी खसरा फैलने का जोखिम है।
उत्तर पूर्व मुंबई के गोवंडी-मानखुर्द इलाके की झुग्गी बस्तियों में अक्टूबर में कई बच्चे संक्रमित पाए गए थे। वायरस का संक्रमण रोकने के लिए मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) घर-घर सर्वे करा रही है। विशेष मुहिम के तहत बच्चों को टीके लगाए जा रहे हैं। परिजनों को सजग करने के लिए शिविर लगाए जा रहे हैं। अब तक आठ हजार बच्चों को वैक्सीन की पहली शॉट जबकि 6,800 बच्चों को दो शॉट दिए गए हैं। महानगर में संदिग्ध संक्रमितों की संख्या 3000 को पार कर गई है। नौ बच्चों की जान जा चुकी है। संक्रमितों की संख्या 184 से ज्यादा है। इनमें से नौ ऑक्सीजन सपोर्ट पर जबकि दो वेंटिलेटर पर हैं। बीएमसी के अपर आयुक्त डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि महानगर में ऐसे 20 हजार बच्चे हैं, जिन्हें मीजल्स का टीका नहीं लगा है। केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई विशेषज्ञ समिति भी प्रभावित इलाकों का दौरा कर चुकी है।

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.