Mumbai News : चुनाव में किसी राजनीतिक दल के साथ पक्षपात नहीं : आयोग

  • सोशल मीडिया कैम्पेन पर फडणवीस सरकार के कब्जे के आरोप निराधार
  • कंपनी की नियुक्ति नियमों और शर्तों के अनुसार
  • कंपनी की नियुक्ति महाराष्ट्र सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय की ओर से की गई थी

By: Binod Pandey

Published: 29 Jul 2020, 10:45 AM IST

मुम्बई। गत विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग के सोशल मीडिया कैम्पेन पर फडणवीस सरकार का कब्जा करने के आरोपों को राज्य चुनाव आयोग ने नकारते हुए इस मामले से अपना पल्ला झाड़ लिया। चुनाव आयोग ने केंद्रीय चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेजकर इस मामले में सफाई दी है और पुरे वाकये से अवगत करवाया। उधर पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि कंपनी और आयोग ने अपनी बात रख दी है अब कहने को कुछ नहीं रहा।


नियानुसार नियुक्ति
जानकर सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग के सीईओ ने रिपोर्ट में कहा है कि चुनाव में किसी राजनीतिक दल के साथ पक्षपात करने के आरोप बेबुनियाद हैं। निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न कराए गए थे । आयोग के सोशल मीडिया कैम्पेन के लिए कंपनी की नियुक्ति महाराष्ट्र सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय की ओर से की गई थी। सभी नियमों और शर्तों के अनुसार उक्त कंपनी की नियुक्ति की गई थी।


डिटेल भेज दी
सीईओ ने रिपोर्ट में कहा है कि सामाजिक कार्यकत्र्ता साकेत गोखले ने ट्वीट कर जो आरोप लगाए हैं,वे वास्तविकता से परे है। केंद्रीय चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी गई है। साथ ही जिन कंपनियों ने साइन पोस्ट के साथ टेंडर भरे थे उनकी डिटेल भी आयोग को भेज दी गई है।


चव्हाण ने उठाया मामला
बता दें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वी राज चव्हाण ने पत्रकार वार्ता में आरोप लगाए थे कि गत विधानसभा चुनाव में आयोग के सोशल मीडिया कैम्पेन पर भाजपा ने कब्जा कर लिया था। भाजपा के पदाधिकारी को जानबूझकर ठेका दिया गया था। साकेत गोखले के एक ट्वीट के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था।

Devendra Fadnavis
Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned