गणेशोत्सव: बप्पा के जयकारे से गूंजी मायानगरी?

Rohit Kumar Tiwari | Updated: 12 Sep 2019, 10:51:58 PM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

दस दिनों तक भक्तों को दर्शन देने के बाद बप्पा ( Bappa ) चले अपने गांव, धूमधाम से हुआ विसर्जन, गणपति बप्पा मोरया ( GanpatiBappa Morya ), पुढच्या वर्षी लवकरया के साथ गणराया को दी विदाई, छलके नैन, फिर आना बप्पा, बप्पा के जयकारे से गूंजी मायानगरी ( Mayanagri ) , ठाणे, नवी मुंबई, कल्याण, उल्हासनगर, भिवंडी, पालघर, वसई-विरार और मीरा भायंदर में भी गणराया ( Gandaya ) को गाजे बाजे के साथ विदाई दी गई

मुंबई. गणेश चतुर्थी से महाराष्ट्र में शुरू हुआ गणेशोत्सव गुरुवार को बप्पा की विदाई के साथ सम्पन्न हो गया। दस दिनों तक भक्तों को दर्शन देने के बाद अनंत चतुर्दशी के दिन सबके लाडले गणराया धूमधाम से चले गए। इस दौरान लाखों नैन छलक गए, तो हजारों की रुलाई फूट पड़ी। गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए मायानगरी की चौपाटियों पर खास इंतजाम किए गए। ठाणे, नवी मुंबई, कल्याण, उल्हासनगर, भिवंडी, पालघर, वसई-विरार और मीरा भायंदर में भी गणराया को गाजे बाजे के साथ विदाई दी गई। बड़ी सोसायटियों में प्रतिमा विसर्जन के लिए कृत्रिम तालाब बनाए गए तो समाज सेवा से जुड़ीं कई संस्थाओं ने गणेश भक्तों के लिए नाश्ता-पानी के खास इंतजाम किए। गुरुवार को चौपाटियों के साथ ही नदी और तालाबों पर गणपति बप्पा मोरया, पुढच्या वर्षी लवकरया... के साथ गणराया को लाखों भक्त भारी मन से विदाई दी गई।

Mumbai ganeshotsav : चिंतामणि के दर्शन के लिए उमड़ा जनसागर

गणेशोत्सव: बप्पा के जयकारे से गूंजी मायानगरी?

129 जगहों पर विसर्जन की व्यवस्था
बीएमसी के साथ ही मुंबई पुलिस की ओर से गणेश विसर्जन के लिए खास एडवायजरी जारी की गई थी, ताकि कोई हादसे नहीं हों। गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान शांति बनाए रखने, अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की गई। विसर्जन के दौरान लाउडस्पीकर और डीजे के इस्तेमाल की मनाही भी की गई। ट्रैफिक नियमों के पालन की हिदायत भी दी गई। जहां तक मुंबई का सवाल है तो यहां पर 7,700 से ज्यादा सार्वजनिक गणेश मंडल हैं, जिनके गणपति का विसर्जन गुरुवार को हुआ। मुंबई में कुल 129 जगहों पर विसर्जन की व्यवस्था की गई।

Mumbai New: मंडल की ओर से जरूरतमंदों की हमेशा की जाती है मदद, ओम गणेश शिव साईं मित्र मंडल का 34वें वर्ष में प्रवेश

बंद रहीं महानगर की कई सड़कें
पुलिस उपायुक्त प्रणय अशोक ने बताया कि गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के मद्देनजर महानगर की कई सड़कें वाहनों की आवाजाही के लिए गुरुवार को बंद रहीं। विसर्जन स्थलों के आसपास 99 जगहों पर पार्किंग की व्यवस्था की गई। 40 हजार से ज्यादा पुलिस जवान, एसआरपीएफ ने कानून-व्यवस्था का जिम्मा संभाला। साथ ही 5000 से ज्यादा सीसीटीवी के जरिए महानगर में लोगों की गतिविधियों पर नजर रखी गई।

अब इंदौर में होंगे मुंबई के सिद्धि विनायक के दर्शन, 11 फीट की मूर्ति यहां होगी विराजित

गणेशोत्सव: बप्पा के जयकारे से गूंजी मायानगरी?

आठ हजार बीएमसी कर्मचारियों ने बजाई ड्यूटी, ड्रोन कैमरे से भी हुई निगरानी
बप्पा की विदाई के दौरान हजारों पुलिस कर्मी और मनपा कर्मचारी गणपति की ड्यूटी पर डटे रहे। मुंबई पुलिस के ही 40 हजार से ज्यादा जवानों के साथ एसआरपीएफ की टुकडिय़ां ने भी कानून-व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस की मदद की। महानगर में गणेश प्रतिमाओं की निगरानी के लिए विशेष रूप से ड्रोन का इस्तेमाल किया गया। शहर की ट्रैफिक व्यवस्था बनाए रखने के लिए ट्रैफिक वार्डन की तैनाती भी हुई। 53 सड़कों को बंद किया गया, जबकि 56 रास्ते वन-वे किए गए। विसर्जन पर नजर रखने के लिए शहर के अलग-अलग हिस्सों और मार्गों पर 5000 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए।

Mumbai Ganpati Mahotsav : मॉरीशिस जाएंगी बदलापुर में निर्मित गणेश मूर्तियां

20 खतरनाक आरओबी पर मुस्तेदी से तैनात रहे पुलिसकर्मी
बीएमसी ने ट्रैफिक पुलिस के साथ मिल कर गणेश विसर्जन के आखिरी दिन गुरुवार के लिए गणेश मंडलों को खास हिदायतें जारी कर गणेश मंडलों से अपील की कि कुछ रेल ब्रिज (ओवर ब्रिज) पर भीड़ का दबाव बढऩे से खतरा हो सकता है। इन बीस पुलों से नहीं गुजरने की सलाह दी गई। इनमें चार सेंट्रल रेलवे के हैं जबकि बाकी 16 वेस्टर्न रेलवे के हैं। गणेश भक्तों से अपील की गई है कि वे चिंचपोकली रेल ब्रिज और करी रोड रेल ब्रिज से गुजरते हुए सतर्कता बरतें। इन पुलों पर लोगों की मदद के लिए ट्रैफिक पुलिस मौजूद रही।

Ganesh Visarjan 2019 Date: जानिए गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने का सही तरीका,पूजा विधि और मुहूर्त

69 जगहों पर प्रतिमा विसर्जन
गणपति विसर्जन के लिए गिरगांव चौपाटी सहित 69 जगहों पर बीएमसी की ओर से व्यवस्था की गई। इस वर्ष गणेश मंडलों के अनुरोध अनुसार अतिरिक्त प्लेटों की व्यवस्था की गई। छोटी गणेश मूर्ति के विसर्जन के लिए 45 जर्मन प्लेट की व्यवस्था हुई, 636 लाइफगॉर्ड सहित 65 मोटर बोट की व्यवस्था की गई। कचरा उठाने के लिए 267 वाहनों का इंतजाम किया गया। मुख्य नियंत्रण कक्ष के साथ 78 नियंत्रण कक्ष व 42 निरीक्षण टॉवर बनाए गए थे।

गणेश विसर्जन की वैदिक विधि: इस विधि से विदा करेंगे गणपति, प्रसन्न होकर देंगे मनचाहा वरदान

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned