Mumbai Political News Update : साथी क्या बदला, शिवसेना ने तो बदल लिए अपने सुर, जानें क्या बोल गए उद्धव

  • नागरिकता बिल: (Citizenship Bill) मोदी सरकार से शिवसेना का सवाल
  • 'शरणार्थी कहां रहेंगे यह साफ होना चाहिए'
  • लोकसभा ( Loksabha ) में विधेयक का समर्थन कर चुकी है शिवसेना ( Shivsena )
  • विधेयक में बदलाव के लिए पार्टी ने दिए हैं कुछ सुझाव
  • भाजपा ( Bjp ) को भ्रम कि अकेले वही देश भक्त पार्टी

मुंबई. लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन कर चुकी शिवसेना राज्यसभा में अड़ंगा डाल सकती है। शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस बिल के प्रावधानों पर सवाल उठाए हैं। उद्धव ने दो टूक कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि विधेयक पारित होने के बाद शरणार्थी कहां रहेंगे, किस राज्य में रहेंगे? इस सवाल के साथ ही शिवसेना की ओर से विधेयक में बदलाव के कुछ सुझाव भी दिए गए हैं। उम्मीद है कि सरकार हमारे सुझावों को गंभीरता से लेगी। पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि हमारी आशंकाओं का समाधान नहीं हो जाता और हमारे सवाल का जवाब नहीं मिल जाता, तब तक हम इस बिल का Patrika .com/bundi-news/saptaah-bhar-se-pade-dheron-se-lie-namoone-nahin-huee-khareed-kisaan-h-4484887/" target="_blank">समर्थन नहीं कर सकते।

यह भी पढ़े:-भारत के नागरिक बन चुके अदनान सामी ने किया CAB का समर्थन


मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, जो कोई सरकार की राय से असहमत होता है, वह देशद्रोही होता है, यह (भाजपा) का भ्रम है। यह भी एक भ्रम है कि केवल भाजपा को ही देश की सुरक्षा की चिंता है। उन्होंने कहा कि शिवसेना किसी को अच्छा या बुरा लगने के लिए कुछ नहीं करती, हमारे लिए देश हित सर्वोपरि है। घुसपैठियों को देश से बाहर करने की मांग हम पहले से करते रहे हैं। नागरिकता संशोधन बिल बुधवार को राज्यसभा में पेश किया जा सकता है।

यह भी पढ़े:-नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ पूर्वोत्तर राज्यों में आंदोलन तेज, जनजीवन प्रभावित

कांग्रेस नाराज, शिवसेना में भी भ्रम
लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन करने वाली शिवसेना से कांग्रेस नाराज है। दूसरी तरफ शिवसेना के सांसदों ने परस्पर विरोध जवाब दिया है। लोकसभा सदस्य अरविंद सावंत ने कहा कि देश हित हमारे लिए सर्वोपरि है। लोकसभा में इस बिल का पार्टी ने समर्थन किया है, इसलिए राज्यसभा में अलग भूमिका कैसे हो सकती है। दूसरी तरफ शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने कहा कि लोकसभा में जो कुछ भी हुआ, उसे भूल जाएं, संसद के उच्च सदन में हम इस विधेयक का आंख मूंद कर समर्थन नहीं करेंगे।

यह भी पढ़े:-प्रस्तावित नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर पूर्वोत्तर में घमासन, अस्तित्व का डर बड़ी वजह

कांग्रेस-एनसीपी के साथ बनाई सरकार
उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव के बाद शिवसेना ने अपने पूर्व सहयोगी भाजपा के साथ नाता तोड़ लिया है। कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के साथ मिल कर शिवसेना ने महाराष्ट्र में सरकार बनाई है। एनडीए से अलग होने के बाद संसद में शिवसेना के सांसद विपक्ष में बैठ रहे हैं। कांग्रेस और एनसीपी जहां नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ हैं, वहीं शिवसेना ने लोकसभा में इसका समर्थन किया है।

यह भी पढ़े:-नागरिकता बिल पर शिवसेना का यू-टर्न, उद्धव बोले- सुझाव मानने के बाद ही देंगे समर्थन

विभागों के बंटवारे पर फिल्मी डायलॉग
महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार के कैबिनेट मंत्रियों के बीच अब तक विभागों का बंटवारा नहीं हुआ है। यह कब तक होगा? पूछने पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अभिनेता शाहरुख खान का फिल्मी डायलॉग बोल कर जवाब दिया। ठाकरे ने मुस्कुराते हुए कहा-मैं हूं ना।

udhav_thakrey.jpg
Show More
Binod Pandey
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned