scriptNagpur Teen Vedant Deokate wins coding contest US firm offer Rs 33 lakh salary package | Nagpur: 15 साल के वेदांत ने कर दिखाया बड़ा कारनामा, टैलेंट देख अमेरिकी कंपनी ने ऑफर की 33 लाख की नौकरी | Patrika News

Nagpur: 15 साल के वेदांत ने कर दिखाया बड़ा कारनामा, टैलेंट देख अमेरिकी कंपनी ने ऑफर की 33 लाख की नौकरी

Nagpur News: नागपुर में रहने वाले वेदांत के पिता राजेश और मां अश्विनी नागपुर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। वे अमूमन लैपटॉप को लॉकर में और मोबाइल फोन को कार में रखते थे, क्योंकि उन्हें डर था कि कहीं बेटे की पढ़ाई इससे प्रभावित न हो। लेकिन अब वें भी वेदांत के कोडिंग कौशल को जानकर गदगद महसूस कर रहे है।

मुंबई

Published: July 24, 2022 03:09:24 pm

Nagpur Vedant Deokate: महाराष्ट्र के नागपुर (Nagpur) जिले में रहने वाले किशोर वेदांत देवकाटे (Vedant Deokate) ने बड़ा कारनामा कर दिखाया है। वेदांत ने एक बड़ी ऑनलाइन कोडिंग प्रतियोगिता (Online Coding Contest) में न केवल भाग लिया, बल्कि शानदार जीत भी दर्ज की। वेदांत के हुनर से एक अमेरिकी कंपनी इतनी प्रभावित हुई कि उसने वेदांत को 33 लाख रुपये की सैलरी पैकेज वाला जॉब ऑफर कर दिया।
Vedant Deokate wins coding contest US firm offer Rs 33 lakh salary package
15 साल का वेदांत निकला कोडिंग का मास्टर
हालांकि अफसोस की बात है कि वेदांत केवल 15 वर्ष का था, इस बात का पता जब अमेरिकी फर्म को लगा तो उसने उम्र का हवाला देते हुए प्रस्ताव वापस ले लिया। हालांकि कंपनी ने किशोर को भविष्य में फिर मौका देने का आश्वासन दिया है।
यह भी पढ़ें

टीचर ने दिखाया गजब का टैलेंट, उल्टे हाथ से एक साथ बना डाली शिवाजी महाराज और महाराणा प्रताप की स्केच, Video देख कहेंगे वाह!

जानकारी के मुताबिक, अपनी मां के पुराने लैपटॉप पर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट को स्क्रॉल करते हुए वेदांत को एक वेबसाइट डेवलपमेंट कॉम्पिटिशन जानकारी मिली, जिसमें एक लिंक भी दिया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, वेदांत ने प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का फैसला किया और लगभग दो दिनों में कोड की 2000 से अधिक लाइनें लिखकर अपनी प्रतिभा से जीत का परचम फहरा दिया। उनके इस काम को देखकर अमेरिकी फर्म प्रभावित हो गई।
इस प्रतियोगिता ने वेदांत को सपनों की नौकरी दिला दी। वेदांत को अमेरिका के न्यू जर्सी स्थित एक विज्ञापन फर्म ने 33 लाख रुपये प्रति वर्ष की नौकरी दी। फर्म चाहती थी कि वेदांत उनकी एचआरडी टीम में शामिल हो और कोडर्स को काम सौंपे और उन्हें मैनेज करे। हालाँकि, फर्म को बाद में पता चला कि वेदांत सिर्फ 15 साल का है, इसलिए उसने ऑफर वापस ले लिया। कंपनी ने वेदांत को निराश न होने के लिए कहा और उनकी शिक्षा पूरी होने के बाद कंपनी से संपर्क करने को कहा है। फर्म ने वेदांत को लिखा, "हम आपके अनुभव, व्यावसायिकता और दृष्टिकोण से प्रभावित हैं।"
वेदांत के पिता राजेश और मां अश्विनी नागपुर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। वे अमूमन लैपटॉप को लॉकर में और मोबाइल फोन को कार में रखते थे, क्योंकि उन्हें डर था कि कहीं बेटे की पढ़ाई इससे प्रभावित न हो। लेकिन अब वें भी वेदांत के कोडिंग कौशल को जानकर गदगद महसूस कर रहे है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

Vice President Election 2022 Live Updates: जगदीप धनखड़ बने देश के 16वें उपराष्ट्रपति, मार्गरेट अल्वा को 346 वोटों से हरायाराजस्थान के इस गांव में बीता जगदीप धनखड़ का बचपन, परिवार के रुतबे की गवाह है पुश्तेनी हवेलीबिहारः JDU को डूबता हुआ जहाज बता RCP सिंह ने दिया इस्तीफा, मंत्री रहते अकूत संपत्ति अर्जित करने का लगा है आरोपवो आवाज केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की नहीं...CWC 2022: खाने को नहीं थी रोटी, आर्मी में रहकर की देश की सेवा; अविनाश साबले ने स्टीपलचेज में जीता रजत पदकफिर से PM मोदी की मीटिंग में शामिल नहीं होंगे CM नीतीश कुमार, इस बार नीति आयोग की बैठक से बनाई दूरीMaharashtra Politics: बीजेपी विधायक नितेश राणे का बड़ा बयान, बोले- महाराष्ट्र संविधान से चलेगा, शरिया कानूनों से नहींचीन के सान्या सिटी में कोरोना से हालात बेकाबू, 80 हजार से ज्यादा टूरिस्ट फंसे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.