Maha Corona: कोरोना वायरस के डर से प्राइवेट अस्पतालों की OPD फुल!

कोरोना वायरस ( Corona Virus ) : डर से प्राइवेट अस्पतालों ( Private Hospitals ) की ‘ओपीडी’ ( OPD) फुल!, सर्दी-खांसी से पीड़ित लोगों में डर का माहौल

मुंबई. बहुत से लोग Patrika .com/body-soul/instant-home-remedies-to-get-rid-cough-and-cold-5407437/" target="_blank">अस्पताल के नाम से दूर भागने की कोशिश करते हैं। कुछ को सर्दी या खांसी होने पर डॉक्टर नहीं चाहिए। इसलिए वे घरेलू उपचार पसंद करते हैं और उस तरह से डॉक्टर के पास जाने से बचते हैं। लेकिन कोरोनरी वायरस के कारण बुखार, सर्दी और खांसी जैसी बीमारियों से पीड़ित लोग अस्पताल में जा रहें हैं। मरीजों की भीड़ के चलते प्राइवेट अस्पताल की ओपीडी विभाग फुल हो रहे हैं|

सर्दी-जुकाम को झट से दूर करेंगे ये घरेलू उपाय, आज ही आजमाएं

मरीज और रिश्तेदारों की लंबी कतारें...
भारत में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या बढकर 169 हो गई है। महाराष्ट्र के साथ-साथ अभी मुंबई में भी कोरोना पीड़ित मरोजों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना के खतरे को देखते हुए मुंबई में कई होटल, सड़क, मॉल और मंदिरों में प्रवेश बंद हो गया है। इसलिए मुंबई के रास्तों पर भी भीड़ कम ही नजर आ रही है, लेकिन ऐसे में निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सर्दी और खांसी के डर से लोग उपचार के लिए अस्पतालों की ओर रुख कर रहे हैं। इस कारण अस्पताल में मरीज और उनके रिश्तेदारों की लंबी कतारें देखी जा रही हैं।

Gharelu nuskhe - तुलसी, काली मिर्च और अदरक की चाय खांसी, सर्दी, जुकाम दूर भगाए

 

Maha Corona: कोरोना वायरस के डर से प्राइवेट अस्पतालों की ओपीडी फल!

राज्य में पहली मौत...
कोरोना वायरस का प्रकोप महाराष्ट्र में व्यापक रूप से फैल गया है और चीन के वुहान में कोरोनरी वायरस मुंबई में फैलने लगा है,जबकि 8 मार्च को मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इलाज के दौरान प्रकृति में गिरावट के कारण उनकी जान चली गई। महाराष्ट्र में यह पहली मौत है।

डॉक्टर ने दिया दवाइयों का ओवरडोज, सर्दी खांसी के इलाज के लिए शिक्षिका हुई थी भर्ती

 

मुंबई बीएमसी ने किया फैसला...
राज्य और मुंबई में कोरोनों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। राज्य में 47 मरीजों का इलाज चल रहा है और 7 मुंबई में। कोरोना संदिग्धों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मुंबई बीएमसी ने दस निजी अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड शुरू करने का फैसला किया है। आने वाले दिनों में इन अस्पताल में कोरोना के मरीजों का जल्द ही इलाज किया जाएगा।

 

इसलिए लिया गया निर्णय...
महाराष्ट्र के साथ मुंबई में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या बढ़ रही है। मुंबई में होटल, मॉल, दुकानें, मंदिर, चर्च और कार्यालय भीड़भाड़ वाले स्थानों में वायरस के प्रसार के कारण एक निवारक उपाय के रूप में बंद कर दिए गए हैं। हालांकि संख्या अभी भी बढ़ रही है। मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते कस्तूरबा अस्पताल में रोगियों की लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं, इसलिए पालिका प्रशासन ने यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया है।

 

बुखार पीड़ितों की संख्या में 20 प्रतिशत की वृद्धि...
वॉक्हार्ट अस्पताल के आंतरिक चिकित्सा विशेषज्ञ प्रीतम मून ने बताया कि कोरोना रोगियों की संख्या बढ़ रही है। इस बढ़ती आबादी के कारण नागरिक चिंतित हैं। इसलिए भले ही एक साधारण सर्दी या खांसी के चिकित्सा के लिए लोग अस्पताल आ रहे हैं। इससे निजी अस्पतालों की ओपीडी पर बोझ बढ़ रहा है। वहीं वर्तमान में बुखार का इलाज कराने वाले रोगियों में की संख्या में अनुमानित 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

 

रोका जा सकता है बीमारी का प्रसार...
कोरोना एक संक्रामक बीमारी है और अगर हम अपना ख्याल रखें तो आज का माहौल काफी बदल सकता है। वर्तमान में हम दूसरे चरण में हैं और इस संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए (वर्क फॉम होम) घर पर सभी काम करना एक अच्छा विचार है। साथ ही ऐसे मामलों में अगर सरकार और स्वास्थ्य एजेंसियां सावधानी बरतें तो बीमारी के प्रसार को रोका जा सकता है।
- डॉ. प्रीतम मून, चिकित्सा विशेषज्ञ

Show More
Rohit Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned