पाकिस्तान की अकड़ पड़ी ढीली, भारत में चोरी छिपे कर रहा खजूर आयात

पाकिस्तान की अकड़ पड़ी ढीली, भारत में चोरी छिपे कर रहा खजूर आयात
पाकिस्तान की अकड़ पड़ी ढीली, भारत में चोरी छिपे कर रहा खजूर आयात

Nagmani Pandey | Updated: 06 Sep 2019, 09:29:42 PM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

640 टन पाकिस्तानी खजूर जब्त, डीआर ने चार लोगो को किया गिरफ्तार
टैक्स चोरी के लिए ओमान के रास्ते भारत भेजा था खजूर

 

नागमणि पांडेय

मुंबई . ओमान के रास्ते भारत में लाए गए लगभग 640 टन पाकिस्तानी खजूर डीआरआई ने जब्त किया है | इसके साथ ही चार लोगो को गिरफ्तार किया है | आरोपियों को कोर्ट में पेश किए जाने पर 20 सितंबर तक कस्टडी में भेजा गया है | इसके पीछे गैंगेस्टर सक्रीय होने की संभावना जताई जा रही है |
डीआरआई ने इमरान तेली, इरफान नुरसुमार, मोहनदास कटारिया और सेवक मखिजा को गिरफ्तार किया है | पुलवामा आतंकी हमले के बाद 16 फरवरी से भारत में पाकिस्ता से व्यापारी संबंध तोड़ लिए गए | इसके कारण पाकिस्तान से आने वाले सामानो पर 200 प्रतिशत टैक्स वसूल किया जा रहा है | इसके के लिए रास्ता निकालने के लिए पाकिस्तान का खजूर पहले ओमान भेजा गया | उसके बाद उसे ओमान का खजूर बताकर भारत भेजा गया | लेकिन इस बिच डीआरआई को जानकारी मिली की पाकिस्तानी खजूर ओमान के रास्ते जेएनपीटी लाया जा रहा है | जिसके बाद डीआरआई जेएनपीटी में लाए गए 40 टन वजन के 16 कंटेनर जांच कर लगभग 640 टन खजूर जब्त किया गया है | इस जब्त किए गए खजूर पर 200 प्रतिशत लगभग 8 करोड़ 50 लाख रुपए टैक्स देना चाहिए | लेकिन यह टैक्स चोरी करने के लिए खजूर ओमान के रास्ते भारत भेजा गया था | लेकिन डीआरआई ने इस रैकेट का पर्दाफाश कर दिया | इसी तरह जेएनपीटी से चेन्नई ,गुजरात में भेजे गए खजूर की भी जांच कर रही है | डीआरआई के सहायक आयुक्त समीर वानखेड़े ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है | शुक्रवार दोपहर किए गए इस कार्यवाई के बाद गिरफ्तार आरोपियों को कोर्ट में पेश किए जाने पर कस्टडी में भेजा है |

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned