scriptPreparations to make concrete forest green, Miyawaki technique will ch | कांक्रीट के जंगल को हरा-भरा बनाने की तैयारी, मियावाकी तकनीक से बदलेगी शहरों की सूरत | Patrika News

कांक्रीट के जंगल को हरा-भरा बनाने की तैयारी, मियावाकी तकनीक से बदलेगी शहरों की सूरत

पहल: ...ताकि मिलती रहे प्राणवायु और आंखों को मिले सुकून
मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरू सहित कई शहरों में चल रहा काम
पर्यावरण संतुलन के लिए अपना सकते हैं यह तरीका

मुंबई

Published: June 18, 2022 06:59:33 pm

मुंबई. सिमटते जंगल और बढ़ते शहरीकरण के चलते दुनिया ग्लोबल वार्मिंग की चुनौती से जूझ रही है। समस्या के समाधान के लिए कार्बन उत्सर्जन घटाने से लेकर वन क्षेत्र बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस दिशा में महाराष्ट्र सरकार की ओर से बड़ी पहल की गई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सामाजिक वानिकी विभाग को शहरों को हरा-भरा बनाने का आदेश दिया है। जापानी मियावाकी तकनीक से शहरों की सूरत बदलने की तैयारी है। मुख्यमंत्री चाहते हैं कि सीमेंट-कांक्रीट की बिल्डिंगों से भरे शहरों में पर्याप्त हरीतिमा हो...ताकि वहां लोगों को प्राण वायु मिलती रहे और आंखों को भी सुकून मिले। पौध रोपण के जरिए बंजर भूमि को जंगल में तब्दील करने से जुड़ी ईको बटालियन (औरंगाबाद) की मुहिम के बारे में ठाकरे ने ये बात कही। आर्थिक राजधानी मुंबई ही नहीं चेन्नई Chennai और बेंगलुरू Bangalore सहित देश के कई शहरों में मियावाकी तकनीक से गार्डन विकसित किए जा रहे हैं। इस काम में स्थानीय प्रशासन की मदद कई एनजीओ भी कर रहे हैं। बीते पांच साल में ईको बटालियन की ओर से 662 हेक्टेयर क्षेत्र में 8.71 लाख पौधे लगाए गए हैं जबकि अगले पांच साल में लगभग 10 लाख पौधे लगाने की तैयारी है।
घनी आबादी को समेटे मायानगरी मुंबई में मियावाकी तकनीक से कई गार्डन विकसित किए गए हैं। भारतीय नौसेना के आइएनएल हमला से सटे परिसर में 2,500 वर्ग मीटर क्षेत्र में 10,500 पौधे लगाए गए हैं। दक्षिण मुंबई ही नहीं महानगर के पूर्वी व पश्चिमी उपनगरों में कई पार्क-गार्डेन में मियावाकी तकनीक इस्तेमाल की गई है। मुंबई महानगर पालिका Mumbai Municipal Corporation (बीएमसी) इस तकनीक से 100 पार्क विकसित कर रही है। योजना के तहत अलग-अलग जगहों पर स्थित छोटे-छोटे पार्कों के 31 एकड़ क्षेत्र में चार लाख स्थानीय पौधे लगाए गए हैं। ग्रीन यात्रा नामक संगठन इसमें बीएमसी की मदद कर रहा है।

कांक्रीट के जंगल को हरा-भरा बनाने की तैयारी, मियावाकी तकनीक से बदलेगी शहरों की सूरत
कांक्रीट के जंगल को हरा-भरा बनाने की तैयारी, मियावाकी तकनीक से बदलेगी शहरों की सूरत

जापान से आई मियावाकी
कम जगह में ज्यादा पौधे लगाने की मियावाकी तकनीक Miyawaki Technique जापान Japan की है। एक वर्ग मीटर के दायरे में दो से चार पौधे लगाए जाते हैं। घना होने के चलते पौधे तेजी से बढ़ते हैं। सूरज की रोशनी नीचे नहीं पहुंच पाती, इस कारण जमीन में नमी बनी रहती है। घने पेड़ों के नीचे घास भी नहीं उग पाती है। बीएमसी 2019 से इस तकनीक पर काम कर रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

सीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'Rajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरीAchievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?Mumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट से पहले शिवसेना का नया दांव, स्पीकर राहुल नार्वेकर से की 39 विधायकों के खिलाफ एक्शन की मांगहनुमानजी के नाम पर वोट मांग रहे कमल नाथ! भाजपा ने की शिकायत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.