scriptRain in Mumbai, 26 people died in separate accidents | मुंबई में आफत की बारिश, अलग-अलग हादसों में 26 लोगों की मौत | Patrika News

मुंबई में आफत की बारिश, अलग-अलग हादसों में 26 लोगों की मौत

बंद पड़ीं पंपिंग स्टेशन की मशीनें, पीने का पानी भी नहीं मिला
चेंबूर, विक्रोली और ठाणे में दीवार गिरी, भांडुप में चट्टान खिसकी
जलजमाव से रेल, सड़क, हवाई यातायात प्रभावित
मृतकों के परिजनों को केंद्र सरकार 2 लाख तो राज्य सरकार पांच लाख रुपए सहायता देगी

मुंबई

Updated: July 18, 2021 08:10:25 pm

मुंबई. महामारी संकट से जूझ रही मुंबई और आसपास के परिसरों में रविवार को बारिश हर बन कर टूटी। भांडुप पंपिंग स्टेशन में पानी भरने से आधे से ज्यादा मुंबई में आज पानी आपूर्ति नहीं हुई। अलग-हादसों में कम से कम 26 लोगों की मौत हो गई। तेज हवा के साथ बारिश के बीच चेंबूर के वाशीनाका इलाके में भारत एटॉमिक रिसर्च सेंटर (बार्क) की बाउंड्री वाल झुग्गी बस्ती पर गिर गई। मलबे में दबने से 18 लोगों की मौत हो गई। पंपिंग स्टेशन की सुरक्षा दीवार गिरने से भांडुप में एक व्यक्ति की जान गई। विक्रोली में चट्टान खिसकने से एक बिल्डिंग धराशायी हो गई। हादसे में सात लोगों की मौत हुई। महानगर से सटे ठाणे में भी दीवार गिरी है। बोरोवली, कांदिवली, कुर्ला, सायन, दादर में बाढ़ जैसे हालात रहे। सड़कों पर ट्रैफिक जाम का आमल रहा। रेलवे ट्रैक पर पानी भरने से सेंट्रल और वेस्टर्न रेलवे की सेवा बाधित रही। लंबी दूरी की कुछ गाडिय़ां कैंसल करनी पड़ीं। रनवे पर पानी जमा होने से सुबह में विमान सेवाएं भी रोकनी पड़ीं। एनडीआरएफ टीम राहत व बचाव कार्य में जुटी है। पालघर और रायगड जिलों में भी जोरदार बारिश हुई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सहित की नेताओं ने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना जताई है। मृतकों के आश्रितों को केंद्र सरकार दो लाख, एनडीआरएफ दो लाख और राज्य सरकार पांच लाख रुपए सहायता देगी। राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने चेंबूर में घटनास्थल का दौरा किया। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने घायलों के मुफ्त उपचार का ऐलान किया है। 24 घंटे में 270 मिली मीटर (मिमी) से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग ने मुंबई सहित समूचे कोंकण क्षेत्र में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मुंबई की प्यास बुझाने वाली सात झीलों में शामिल विहार जलाशय आज भर गया। तुलसी झील पहले ही लबालब हो चुकी है।

पानी में डूबा यह दक्षिण मुंबई का हिंदमाता इलाका है। बीते कई साल से यहां जलभराव की समस्या है।
पानी में डूबा यह दक्षिण मुंबई का हिंदमाता इलाका है। बीते कई साल से यहां जलभराव की समस्या है।



मुंबई में आफत की बारिश, अलग-अलग हादसों में 26 लोगों की मौतमशीनें बंद, पानी आपूर्ति ठप
महानगर के बड़े हिस्से में भांडुप पंपिंग स्टेशन से पानी सप्लाई होती है। रविवार तड़के पंपिंग स्टेशन में पानी भर गया। सेंट्रल कंट्रोल रूम की मशीनें बंद पड़ गईं। बीएमसी के जल विभाग के अधिकारी ने बताया कि मशीनें चेक की जा रही हैं। जरूरत के अनुसार मरम्मत काम शुरू है। अधिकारियों ने उम्मीद जताई को सोमवार से पेयजल आपूर्ति बहाल होगी।चेंबूर-भांडुप के हादसों से बीएमसी ने पल्ला झाड़ लिया है। महापौर किशोर पेडणेकर ने कहा कि प्रशासन ने लोगों को पहले ही नोटिस जारी किया था। पीने का पानी नहीं मिलने से लाखों लोगों को हुई परेशानी का कोई जवाब प्रशासन के पास नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.