गोर के सोना का टीका- म्हारे हैं कंकू का टीका

राजस्थानी महिला मंडल गोकुलधाम ने धूमधाम से मनाया गणगौर पर्व

By: Devkumar Singodiya

Published: 10 Apr 2019, 06:15 PM IST

मुंबई. राजस्थानी मंडल गोकुलधाम यशोधाम एवं राजस्थानी महिला मंडल गोकुलधाम की ओर से आयोजित गणगौर महोत्सव धूमधाम से कृष्णवाटिका देवस्थान, गोकुलधाम में आयोजित हुआ।
तीजणियों ने ईशरजी और बड़ी गणगौरजी के दर्शन किए और पूजा अर्चना की। शाम चार बजे से महिलाओं ने राजस्थानी लोकगीतों पर पारम्परिक घूमर नृत्य और नृत्य नाटिका पेश की, पूरा माहौल राजस्थानी माहौल में रंग गया। विशेष उपस्थिति राजेश्वरी मोदी (राज दीदी), संगीता अनील मुरारका, उर्मिला संघई, ओमप्रकाश अग्रवाल, देवीदत्त मुरारका, राजू-निलेश अग्रवाल, श्यामसुंदर संघई आदि की रही। माया देवी तुलस्यान की स्मृति में परमेश्वर दयाल तुलस्यान परिवार की ओर से कार्यक्रम के सभी सहभागियों को सम्मानित किया गया। मंच संचालन त्रिलोक सिरसलेवाला ने किया ।
इस मौके पर सरोज शर्मा, सुमित्रा तुलस्यान, पुष्पा गुप्ता, लक्ष्मी अग्रवाल, संतोष पंसारी समेत श्रीराम शर्मा, रामजीवन गोयल, शिव कुमार सराफ, रवि खेतान, सुशील पोद्दार, रमेश गोयल, रघुनंदन सोमानी, डॉ. जसवंत पाटील आदि मौजूद रहे। मंडल के मानद् सचिव राजेन्द्र कुमार तुलस्यान ने सभी का आभार व्यक्त किया।

ठाणे में गणगौर की पूजा
ठाणे. विम्बल्डन पार्क में माहेश्वरी समाज के अध्यक्ष राजू तापडिय़ा की मौजूदगी में ईसरजी व गणगौर की पूजा अर्चना की गई। इसमें समाज की सुषमा, निधि, निशिका,मोनल, विजय लक्ष्मी, अंजु, विना, सुनीता, निशा, किरण, रितु, पूजा, निकिता आदि मौजूद रहीं।

मलाड पूर्व में गणगौर पूजन
मालाड को.ऑपरेटिव हाउसिंग सोसायटी महिला मंडल (मालाड, पूर्व) की ओर से गणगौर पूजन का आयोजन किया गया। इस मौके पर विनीता जरीवाला, गीता जरीवाला, गोरी देवी जरीवाला, आयुशी परिहार, लक्ष्मी राय, माया चंदोलिया, श्वेता चंदोलिया व गार्गी चंदोलिया मौजूद रहीं।

गोर के सोना का टीका- म्हारे हैं कंकू का टीका

उल्हासनगर. कैंप एक में गणगौर चौक पर स्थित बैरक क्रमांक 116 में गणगौर की समाप्ति पर सुबह
ईसर गणगौर पूजन का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर महिलाओं ने गणगौर पूजन के गीत गाकर समां बांधा। सुमन ससुराल से उल्हासनगर में मायके आई है जिसको गणगौर पूजन करवाया गया। ईसर, गणगौर और कानीराम की पूजा की गई। सुमन के साथ स्वीटी शर्मा, पूनम आनंद, तारा देवी, कोमल, चिंकी, उगंता, गीता, बुलकेश, मंजू, मीना आदि ने पूजा में हिस्सा लिया।
गेहूं और काले चने को उबालकर उसमें घी और शक्कर मिलाकर (घुघरी) प्रसाद के रूप में वितरण किया गया। स्वीटी शर्मा ने बताया कि खीर, चूरमा, पूरी बनाई गई। पहले गणगौर और ईसर को अर्पित कर उपस्थितजनों को प्रसाद बांटा गया। पूजन के बाद, ...गौर ये गणगौर माता खोल ये किवाड़ी, बाहर उभी थारी पूजन वारी और ...गोर गोर गोमती, ईसर पूजे पार्वती...पार्वती के आला टीका...गोर के सोना का टीका...म्हारे हैं कंकू का टीका गीत गाकर सबको मंत्रमुग्ध किया। लोगों ने तालियां खूब बजाई।

Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned