नौसेना ने रचा इतिहास, INS विक्रमादित्य पर स्वदेशी फाइटर जेट तेजस की लैंडिंग सफल

  • नौसेना ने रचा इतिहास, INS विक्रमादित्य पर स्वदेशी फाइटर जेट तेजस की लैंडिंग सफल
  • भारतीय सेना हुआ ताकतवर

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

मुंबई . भारतीय नौसेना के लिए शनिवार का दिन एक एतिहासिक दिन साबित हुआ है । नौसेना के स्वदेशी निर्मित लाइट कॉम्‍बेट एयरक्राफ्ट (LCA ) तेजस ने एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विक्रमादित्‍य पर सफल लैंडिंग कर ली है । नेवी के लिए यह पहला मौका था जब देश में बने फाइटर जेट को सफलतापूर्वक विक्रमादित्‍य पर लैंड कराया गया है।इसके साथ ही भारत रूस ,अमेरिका ,फ़्रांस ,ब्रिटेन और चीन के बाद अब छठवा देश बन गया है | एलसीए नेवी वर्जिन की पहली अरेस्टड लैंडिंग है | इससे पहले आईएनएस हंसा नेवी बेस पर इसका परीक्षण किया गया था |
डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) की तरफ से डेवलप एलसीए को एक अरेस्‍ट वॉयर की मदद से लैंड कराया गया। एरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (एडीए) नेवी के साथ मिलकर फाइटर जेट को डेवलप करने के काम में लगी हुई है। डीआरडीओ की तरफ से बताया गया है कि टेस्‍ट सेंटर में सार ट्रायल्‍स पूरे करने के बाद एयरक्राफ्ट ने सुबह 10 बजकर 2 मिनट पर सफलतापूर्वक डेक पर लैंडिंग की। कमोडोर मओलांकर ने पहली लैंडिग को अंजाम दिया।


2016 में की थी हल्के लड़ाकू विमान की घोषणा

नौसेना ने रचा इतिहास, INS विक्रमादित्य पर स्वदेशी फाइटर जेट तेजस की लैंडिंग सफल

पिछले साल सितंबर में विमान ने गोवा में शोर बेस्ड टेस्ट फैसिलिटी पर अरेस्टेड लैंडिंग की थी | दिसंबर 2016 में नौसेना ने घोषणा की थी कि वह अधिक वजन के लड़ाकू जेट को शामिल नहीं करेगा | क्योंकि इसके संचालन में काफी दिक्कत सामने आती थी. इसके बाद नेवी के लिए हल्के लड़ाकू विमान की जरूरत बढ़ गई थी |

Nagmani Pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned