केंद्र सरकार ने ट्रांसपोर्ट वाहनों को दी बड़ी राहत,अब दो वर्ष में करानी होगी पासिंग

केंद्र सरकार ने ट्रांसपोर्ट वाहनों को दी बड़ी राहत,अब दो वर्ष में करानी होगी पासिंग

Prateek Saini | Publish: Nov, 10 2018 09:42:51 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 09:42:52 PM (IST) Mumbai, Mumbai, Maharashtra, India

पिछले कुछ महीनों से नए वाहनों की पासिंग को दो वर्ष करने की मांग की जा रही थी, जिस पर सकारात्मक रुख दिखाते हुए केंद्र सरकार ने यह फैसला लिया...

(मुंबई): केंद्र सरकार ने देश भर के ट्रांसपोर्ट वाहनों के लिए अब फिटनेस पासिंग के नियमों में शिथिलता दी है। नए नियमों के मुताबिक अब आठ साल से कम पुराने सभी ट्रांसपोर्ट वाहनों को हर साल पासिंग कराने की जरूरत नहीं होगी। अब आठ वर्ष से कम के वाहनों को दो वर्ष में एक बार फिटनेस पासिंग कराना होगा। जिन वाहनों को आठ साल से ज्यादा हो गए, उन्हें हर साल ही पासिंग करानी होगी। गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से नए वाहनों की पासिंग को दो वर्ष करने की मांग की जा रही थी, जिस पर सकारात्मक रुख दिखाते हुए केंद्र सरकार ने यह फैसला लिया।

 

फिटनेस न मिलने से परेशान हैं मुंबई के टेक्सी वालेे


मुंबई टैक्सी यूनियन केन्द्र के इस फैसले का स्वागत किया है। पर उनका कहना है कि यह एक सराहनीय कदम है, पर हमारे सामने अभी दूसरी समस्या है। मुंबई में पासिंग ट्रैक के न होने के कारण हमें फिटनेस पासिंग नहीं मिल रहा है, इसके कारण हमारी सात हजार टैक्सियां बंद पड़ी हैं। हमारे लोग डेढ महीने से बेकार पड़े हुए हैं। हमने राज्य सरकार से मुख्यमंत्री आवास पर मोर्चा निकालने की अनुमति मांगी है, अगर हमें अनुमति नहीं दी गई, तो हम हड़ताल करेंगे।


मुंबई टैक्सी यूनियन के जनरल सेक्रेट्री अंटोनी लॉरेंस कॉड्रोस ने पत्रिका को बताया कि मुंबई हाईकोर्ट ने सरकार को 250 मीटर का पासिंग ट्रैक बनाने के बाद ही गाडिय़ों को पासिंग देने का आदेश दिया है। मगर यह कार्य पूरा नहीं हो पा रहा है। इधर कोर्ट के आदेश के बाद टैक्सियों तथा अन्य वाहनों की पासिंग रुक गई है। इससे हमारे 14 हजार ड्राइवर घर बैठ गए हैं।

 

 

मुंबई के ट्रांसपोर्ट कमिश्नर शेखर चेन्ने ने पत्रिका को बताया कि आज ही हमारे पास केंद्र सरकार का एक सर्कुलर आया है, जिसके तहत आठ वर्ष से कम के ट्रांसपोर्ट वाहनों को दो वर्ष में एक बार पासिंग कराना होगा। इससे यह समस्या समाप्त हो जाएगी। अपने ऊपर लगाए गए लापरवाही के आरोप को बेबुनियाद बताते हुए उन्होंने कहा कि हम रोज हर ट्रैक पर 200 गाडिय़ों की पासिंग कर रहे हैं। बड़ी गाडिय़ों को हम पनवेल और कुछ को पेण भेज रहे हैं। हम शनिवार और रविवार को भी पासिंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हमें मुंबई सेंट्रल के आरटीओ ऑफिस में ट्रैक बनाने की अनुमति दी है। इसका टेंडर भी निकाल दिया गया है। बहुत जल्द ही यह ट्रैक तैयार होगा।

Ad Block is Banned