कुएं में पड़े मिले हजारों आधार कार्ड, मचा चारों तरफ हड़कंप

महाराष्ट्र के यवतमाल में कुएं के अंदर आधार कार्ड का ढेर मिला है। यहां हजारों की संख्या में आधार कार्ड मिले हैं और यह सभी आधार कार्ड ओरिजनल हैं।

By: Prateek

Published: 13 Mar 2018, 04:12 PM IST

महाराष्ट्र के यवतमाल में कुएं के अंदर आधार कार्ड का ढेर मिला है। यहां हजारों की संख्या में आधार कार्ड मिले हैं और यह सभी आधार कार्ड ओरिजनल हैं। इतनी भारी मात्रा में आधार कार्ड का ढेर मिलने से संबंधित महकमे के अलावा प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। सवाल यह उठ रहा है कि यह आधार कार्ड फर्जी हैं अथवा नहीं। साथ ही यह भी सवाल खड़ा होता है कि अगर आधार कार्ड फर्जी नहीं हैं, तो फिर इन्हें इस तरह जमीदोंज करने के पीछे क्या मकसद हो सकता है।

गौरतलब है कि मौजूदा सरकार सभी सेवाओं में आधार की अनिवार्यता को लेकर काफी संजीदा है और यह मामला सुप्रीम कोर्ट में भी चल रहा है, जिसमें कई राजनीतिक पार्टियों ने भी यह कहते हुए दिलचस्पी दिखाई है कि सभी सेवाओं में आधार कार्ड की अनिवार्यता से एक आम नागरिक से संबंधित सारी जानकारी लीक हो जाएगी, जिसका उसके खिलाफ और शासनतंत्र के खिलाफ भी उपयोग किया जा सकता है। ऐसे हालात में सवाल उठता है कि अगर इतनी भारी संख्या में आधार कार्ड इस हाल में मिले, तो आखिर यह किस मकसद से यहां फेंके गए।

जानकारी मिली है कि जो आधारकार्ड मिले हैं, वे यवतमाल जिले के बाहरी इलाके स्थित लोहरा गांव के निवासियों के बताए जा रहे हैं। मामले की जांच के लिए आनन-फानन में प्रशासनिक स्तर पर आनन-फानन में एक कमेटी का गठन किया गया है, जिसे पूरे मामले की पड़ताल करके जांच रिपोर्ट जल्द ही प्रस्तुत करने को कहा गया है। घटना के बारे में मिली शुरुआती जानकारी के मुताबिक सारे मामले का पता तब चला, जब युवाओं का एक स्वयंसेवी संगठन पानी की तलाश में सूखे कुएं और बावड़ियों को तलाश रहा था।

काबिलेगौर है कि यवतमाल जिले में इन दिनों पीने के पानी का जबरदस्त संकट है। इसी क्रम में रविवार को कुछ स्वयंसेवक युवाओं ने पानी की समस्या का हल करने के लिए यवतमाल के साईं मंदिर परिसर में स्थित एक कुएं की मिट्टी और गाद हटानी शुरू की। कुएं की गाद साफ करने के दौरान उन्हें वहां एक बोरी मिट्टी में दबी मिली। जब उस बोरी को बाहर निकाल कर देखा गया तो सब चौंक गए। यह बोरी आधारकार्ड से भरी हुई थी, जिसमें हजारों की संख्या में आधार कार्ड ठुंसे पड़े हुए थे। बोरी में आधार कार्ड होने की बात चारों तरफ फैल गई और लोगों का जमावड़ा हो गया।

खबर पाकर प्रशासन के लोग भी मौके पर पहुंचे और आसपास के लोगों से पड़ताल की। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों को घटना के बारे में अवगत कराया। बताया जाता है कि बोरी में मिले काफी सारे कार्ड मिट्टी के ढेर के नीचे दबे होने के कारण कुछ खराब से हो गए थे, लेकिन फिर भी नाम-पता और दूसरी जानकारियां उनमें भी स्पष्ट नजर आ रही थीं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned