बिना टिकट यात्रियों से वेस्टर्न रेलवे ने वसूले 14.81 करोड़ रुपए

जुर्माना वसूली में पिछले साल के मुकाबले 95.30 प्रतिशत वृद्धि

By: Chandra Prakash sain

Published: 18 Dec 2018, 06:38 PM IST

मुंबई

नवंबर महीने में बिना टिकट/अनियमित टिकट पर यात्रा करने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर वेस्टर्न रेलवे ने 2.93 लाख मामले पकड़ते हुए 14.81 करोड़ रुपए का जुर्माना वसूल किया है। पिछले साल इसी अवधि में बिना टिकट यात्रियों से वसूली गई रकम के मुकाबले इस साल 95.30 प्रतिशत ज्यादा जुर्माना वसूला गया है।
मिली जानकारी के अनुसार वेस्टर्न रेलवे ने बिना टिकट यात्रा करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कई तरह की मुहिम चलाई। इस मुहिम के अंर्तगत रेलवे परिसर के 245 भिखारियों तथा 520 अनधिकृत फेरीवालों को रेल परिसर से बाहर निकाला गया। रेलवे ने इनसे जुर्माना भी वसूल किया। इनमें से 80 लोगों को जेल भी भेजा गया। इसी तरह दलालों तथा असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए 88 लोगों को पकड़ा गया और रेल अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा चलाकर उनसे जुर्माना वसूला गया। नवंबर के दौरान महिला सुरक्षा दस्ते ने 12 वर्ष से अधिक उम्र के 41 स्कूली बच्चों को उपनगरीय ट्रेनों के महिला डिब्बों में सफर करते हुए पकड़ा।


बेलापुर-खारकोपर के लोगों को मिली राहत


डेढ़ महीने पहले शुरू हुई सेंट्रल रेलवे की सीवुड दरावे-खारकोपर लोकल ने 31 लाख 57 हजार 903 रुपए कमाए हैं। इस अवधि के दौरान कुल चार लाख 61 हजार 224 लोगों ने एक लाख 63 हजार टिकट खरीदे। मिली जानकारी के अनुसार बामन डोंगरी में नियुक्त नौ और खारकोपर में आठ बुकिंग क्लर्कों ने 11 नवंबर से तीस नवंबर तक 95 हजार 41 टिकट बुक किए, जिससे 17 लाख 61 हजार 399 रुपए की आय हुई। इन टिकटों पर दो लाख 86 हजार 272 लोगों ने यात्रा की। आरंभ में सेंट्रल रेलवे को उतने पैसेंजर नहीं मिल पा रहे थे, जितने की उन्हें आशा थी। फिलहाल रेलवे यहां पर 40 लोकल सेवाएं चला रहा है। सेंट्रल रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी एके सिंह ने बताया कि इस लाइन से आम लोगों को काफी सुविधा हो रही है। जल्द ही हम इसके आगे का काम भी पूरा करेंगे। इसके बाद लोगों को और सहूलियत मिलेगी।

Chandra Prakash sain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned