बिना बताये अनुपस्थित रहना पड़ा भारी, कलेक्टर ने तहसीलदार को किया सस्पेंड

पंचायत चुनाव के दौरान लोगों की छुट्टी पर रोक लगाई गयी है। इसके बावजूद लोरमी के तहसीलदार बिना बताये गैरहाजिर थे। कलेकटर को उनके इस गैरजिम्मेदराना व्यवहार के बारे में सुचना मिली।

By: Karunakant Chaubey

Published: 14 Jan 2020, 05:36 PM IST

मुंगेली. छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के लोरमी तहसीलदार को बिना सूचना गायब रहना बहुत भारी पड़ा। मुंगेली कलेक्टर ने उन्हें पंचायत चुनाव के दौरान अनुपस्थित रहने के कारण निलंबित कर दिया और उसकी जगह पर तत्काल प्रभाव से दूसरे अधिकारी को नियुक्त कर दिया।

रायपुर निगम आयुक्त समेत 3 IAS का तबादला, शिव अनंत तायल की जगह उत्तर प्रदेश के सौरभ कुमार संभालेंगे कमान

दरअसल पंचायत चुनाव के दौरान लोगों की छुट्टी पर रोक लगाई गयी है। इसके बावजूद लोरमी के तहसीलदार बिना बताये गैरहाजिर थे। कलेकटर को उनके इस गैरजिम्मेदराना व्यवहार के बारे में सुचना मिली। जिसके बाद उन्होंने कार्यवायी करते हुए एमएन चंद्रा को सस्पेंड कर दिया और उनकी जगह पर नए तहसीलदार को कार्यभार दे दिया गया।

आपको बता दें कि जशपुर जिले के मनोरा जनपद कार्यालय में ड्यूटी से नदारद 17 अधिकारी-कर्मचारियों को एसडीएम ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। नोटिस का जवाब संतोषजनक न पाए जाने पर अधिकारी कर्मचारियों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है।

ये भी पढ़ें: अगले 80 सालों तक 15 जनवरी को मनाई जाएगी मकर संक्रांति, तिथि बदलने की ये है वजह

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned