मितानिनों की मेहनत के कारण बढ़ा संस्थागत प्रसव का ग्राफ

मितानिनों की मेहनत के कारण बढ़ा संस्थागत प्रसव का ग्राफ

Amil Shrivas | Publish: Jan, 14 2018 11:05:23 AM (IST) Mungeli, Chhattisgarh, India

प्रतिमाह लगभग 300 से 400 के बीच प्रसव हो रहे हैं, जिसमे से 97 प्रतिशत प्रसव स्वास्थ्य केंद्रों में कराया जा रहा है।

पथरिया. नगर में विकास खण्ड स्तरीय स्वास्थ्य पंचायत सम्मेलन का आयोजन किया गया। सामुदायिक स्वास्थ केंद्र परिसर में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि मितानिनों की मेहनत का नतीज है कि संस्थागत प्रसव में काफी बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि पुराने समय मे प्रसुता को प्रसव के दौरान और प्रसव के बाद अज्ञानता के कारण परिवार वालों से ही कई कष्ट मिलता था। इनमेें दो से तीन दिन तक पानी न देना और आग जलाकर दिन रात तपिस में रखना प्रमुख है। इस तरह की गलत पंरापराओं को मितानिनों ने बड़ी समझ बूझ के साथ खत्म किया और जन्म देने वाली माता को कष्ट से बचाया है। इनके ही प्रयासों और सहयोग से संस्थागत प्रसव मे वृद्धि हुई है। इसके साथ ही जन्म के बाद शिशु और माताओं का टीकाकरण कराकर उनका भविष्य भी सुरक्षित कर रही हैं। उन्होंने ने मितानिनों की मांगों को सही बताते हुए सरकार से हर संभव मांग पूरी कराने का आश्वासन दिया। इसके साथ ही उन्होंने सभी 440 मितानिनों को नये साल की बधाई दी। उन्होंने मितानिनों के कार्यों को पुनीत कार्य बताते हुए प्रसन्नता की। गृह निर्माण मंडल अध्यक्ष भूपेन्द्र सवन्नी ने भाजपा सरकार की स्वास्थ्य से संबधित सभी योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा 10 उप स्वास्थ्य केंद्र, सरगांव में स्वास्थ्य केंद्र व पथरिया के सामुदायिक स्वास्थ केंद्र के लिए नवीन भवन बनवाया। विगत चार सालों से विकास की गति थम गई है। इसके पूर्व जिला पंचायत सदस्य जागेश्वरी वर्मा ने मितानिनों के विभिन्न मांगों का समर्थन करते हुए कलेक्टर दर में वेतन देने की मांग की। इस पर भाजपा के युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष अशोक सिंह ने कहा कि मितानिनों को सेवा का अवसर कांग्रेस से नहीं, बल्कि भाजपा सरकार ने दिया है और आगे भी उनके सम्मान के लिये भाजपा उनकी मांगों को पूरा भी करेगी। स्वास्थ्य सम्मेलन में नुक्कड़ नाटक व गीत के माध्यम से संस्थागत प्रसव और टीकारण के लाभ को बताया गया और सभी को स्वास्थ्य केंद्रों में प्रसव कराने के लिए प्रेरित किया गया। मितानिनों की ब्लाक समन्वयक सरोजनी वर्मा ने अतिथियों को मितानिनों के सामने आने वाली समस्या के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम का का शुभारंभ माहात्मा गंाधी के छाया चित्र पर माल्यार्पण के साथ हुआ। मितानिनों ने स्वागत गीत गाकर मंच पर उपस्थित अतिथियों का सम्मान किया, जिसके उपरांत सीएचएमओ डॉ. आरएन घृतलहरे ने स्वागत भाषण देते हुए बताया कि विभाग के द्वारा मितानिनों के सहयोग से संस्थागत प्रसव को पथरिया ब्लॉक मे 97 प्रतिशत तक लाया गया है। उन्होंने बताया कि विकास खण्ड के विभिन्न उपस्वास्थ्य केंद्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिमाह लगभग 300 से 400 के बीच प्रसव हो रहे हैं, जिसमे से 97 प्रतिशत प्रसव स्वास्थ्य केंद्रों में कराया जा रहा है। इसके बाद विकास खण्ड की तीन पंचायत दौना, कुकुसदा व रामबोड़ के सरपंचों एंव मितानिनों को संस्थागत प्रसव में बेहतर कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र दिया गया। सम्मेलन में नगर पंचायत अध्यक्ष कुंजदेवी कर्माकर, निश्चल गुप्ता, हज कमेटी के अध्यक्ष सैफुद्दीन, मण्डल अध्यक्ष हरिशंकर वर्मा, रिंकू सिंह ठाकुर, नपं उपाध्यक्ष उमेश यादव, रघ्घु वैष्णव, जगदीश वर्मा, सुखदेव वर्मा व देवेन्द्र सिंह राजपूत आदि मौजूद रहे।

Ad Block is Banned