बैगाओं को दी गई उन्नत कृषि तकनीक की जानकारी

कृषि एवं समवर्गी विभाग के अधिकारियों ने किया भ्रमण

By: Amil Shrivas

Published: 10 Feb 2018, 12:23 PM IST

मुंगेली. कृषि एवं समवर्गी विभाग के अधिकारियों ने विकासखण्ड लोरमी के सुदूर ग्राम झिरिया एवं सरगढ़ी में कृषकों को कृषि एवं अन्य विभागीय जानकारी देने भ्रमण किया। कृषि विभाग द्वारा आत्मा योजनांतर्गत कृषकों के लिए प्रशिक्षण आयोजन किया गया।
उक्त ग्रामों में निवासरत बैगा तथा उराव कृषकों को विभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान करने के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा पात्रता के आधार पर चयनित किया गया। प्रशिक्षण में कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा कृषकों को उन्नत कृषि तकनीक तथा विभिन्न प्रकार की जानकारियां दी गई। उद्यानिकी, पशुपालन व मत्स्य पालन विभाग के अधिकारियों ने भी उक्त ग्रामों के कृषकों को विभागों से संबंधित जानकारियां प्रदान की। ग्राम 25 कृषकों को धान के बदले मक्का योजना के तहत पंचायत से प्रस्ताव पारित कर अतिशीघ्र मक्का बीज प्रदाय करने के लिए हितग्राहियों का चयन किया गया। उप संचालक कृषि एमआर तिग्गा ने कृषकों को ग्रीष्मकालीन मक्का, उड़द व मूंग लगाने के लिए सलाह दी। साथ ही मनरेगा के तहत पंचायत की ओर से कूप एवं डबरी निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया। कृषक श्रमिक दक्षता उन्नयन के समूह निर्माण तथा सौर सुजला के प्रकरण वरिष्ठालय को प्रेषित करने के लिए ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को निर्देशित किया तथा कृषकों का चयन कर जिले में उन्नत तकनीक से कृषि कर रहे कृषकों के फार्मो का भ्रमण कराने कहा गया। सहायक संचालक उद्यानिकी द्वारा कृषकों को समझाइश दी गई कि ग्राम में जल स्रोत उथला होने के कारण कृषक साग-सब्जी की फसल लें तथा मुनगा पौधे लगाएं। उन्होंने कहा कि कृषक अपने खेतों को जानवरों से रक्षा हेतु सामूहिक रूप से फेंसिंग द्वारा घेरें। उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं ने ग्रामीणों को डेयरी विकास के लिए प्रोत्साहित किया तथा कहा कि ग्रामीणों को चूजा वितरण किया जाएगा। मत्स्य विभाग द्वारा बताया गया कि ग्राम झिरिया में 3 तालाब व सरगढ़ी में 3 तालाबों में सामूहिक मछली पालन कराया जाएगा। उप संचालक कृषि ने ग्रामीणों को समझाइश दी कि ग्राम झिरिया के जल को जन भागीदारी द्वारा शुद्ध करें तथा उपयोग करें। उन्होंने कहा कि इन ग्रामों के कृषकों को विकास की मुख्य धारा से जोडऩे के लिए सभी विभागों को समवेत प्रयास करना होगा। इस दौरान पशुपालन विभाग से उप संचालक बीके पटेल, उद्यानिकी विभाग से सहायक संचालक सीडी सिंह, सहायक संचालक मत्स्य पालन सहित बड़ी संख्या में कृषक उपस्थित रहे।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned