कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने शुरू की मामले की जांच, सिविल सर्जन हटाए गए

कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने शुरू की मामले की जांच, सिविल सर्जन हटाए गए
कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम ने शुरू की मामले की जांच, सिविल सर्जन हटाए गए

Murari Soni | Updated: 12 Oct 2019, 08:19:54 PM (IST) Mungeli, Mungeli, Chhattisgarh, India

पोस्टमार्टम के लिए राशि वसूली मामले में प्रभारी मंत्री गंभीर

मुंगेली. जिला अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई थी, जिससे जिला प्रशासन में हडक़म्प मचा हुआ था। प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव ने मामले को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर को जांच कर कार्रवाई करने निर्देशित किया। इस पर कलेक्टर ने एसडीएम रुच शर्मा को जांच अधिकारी बना कर तत्काल जांच रिपोर्ट तैयार करने निर्देशित किया। एसडीएम ने दोपहर पश्चात जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दिया। कलेक्टर ने शाम को जांच रिपोर्ट मिलने के पश्चात सिविल सर्जन प्रशासनीक दृष्टीकोण से सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ, आरके भुआर्य को हटा कर डॉं, कमलेश खैरवार प्रभारी जिला टिकाकरण अधिकारी को आगामी आदेश तक सिविल सर्जन का अतिरिक्त प्रभार दिया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 10 अक्टूबर को शव का पोस्टमॉर्टम करने के पश्चात परिजनों से अवैध वसूली की जा रही है। पैसा न देने पर लाश को नहीं देने की धमकी भी दी जाती है। मरच्यूरी के कर्मचारियों द्वारा लाशों का सौदा करने का वीडियो वायरल होने से प्रदेश स्तर पर हडक़म्प मच गया। जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम पश्चात शव के सिलाई के लिए 15 सौ परिजनों से मांग किये जाने की मौखिक शिकायत सिविल सर्जन से किया गया और उनके सामने ही 5 सौ रुपए कर्मचारी द्वारा लेने के बाद भी सिविल सर्जन आरके भुआर्य ने गंभीर मामले को टालते नजर आए, जिला अस्पताल में लाश के साथ सौदेबाजी कर किसी ने वीडियो बना कर वायरल कर दी। जो पूरे प्रदेश में जिला अस्पताल में लाश के साथ पैसा लेने का मामला गंभीरता से उठाया गया। जिले के प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव ने घटना के ही रात में कलेक्टर को जांच पश्चात कार्रवाई करने निर्देशित किया। दूसरे दिन 11 अक्टूबर को 11 बजे एसडीएम रुचि शर्मा टीम सहित जिला अस्पताल पहुंच कर सिविल सर्जन के ऑफिस में कर्मचारी का बयान दर्ज किया गया तथा मृतक के बेटे व परिजनो का बयान दर्ज किया गया। इसकी रिपोर्ट एसडीएम ने कलेक्टर को सौंपा। मामले को गंभीरता से लेते हुए सिविल सर्जन आरके भुआर्य को हटाकर आगामी आदेश तक डॉ, कमलेश खैरवार को प्रभार दिया गया। ज्ञात हो कि दशहरा पर्व की शाम 7.30 बजे रायपुर रोड स्थित ग्राम रेहुंटा मोड़ के पास अज्ञात युवक कि लाश पड़ी हुई थी, जिसे मोटर सायकिल क्रमांक सीजी 10 एनए 4034 की ठोकर से मृत्यु हुई थी। मोटर सायकिल चालक वाहन छोड़ कर फरार हो गया। सूचना पश्चात 108 की सहायता से जिला अस्पताल मरच्यूरी में रखा गया। 10 अक्टूबर की सुबह लगभग 7 बजे मृतक के पुत्र अभिलाष खुंटे ने दूसरे के वाटसएप में लाश की पहचान अपने पिता के रूप में की। परिजन एवं गांव वालों ने जिला अस्पताल पहुंच कर मरच्यूरी में रखी लाश को देख कर पहचान की। नेवासपुर निवासी मृतक संत कुमार सतनामी उम्र 50 वर्षीय की मोटर सायकिल से राह चलते युवक को टोकर मार कर मौत के घाट उतार दिया।
जांच अधिकारी रूचि शर्मा ने बताया कि जिला अस्पताल में 10 अक्टूबर कि घटना को संज्ञान में लेते हुए जिला अस्पताल के कर्मचारी एवं परिजनों की बयान दर्ज कर कलेक्टर को जांच रिपोर्ट सौंप दिया गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned