प्रधानमंत्री जल सम्मेलन के लिए मुंगेली जिले के वनग्राम झिरिया का चयन

PM Water Conference: राज्य के श्रेष्ठ 8 पंचायतों में से हुआ झिरिया का चयन, केन्द्र एवं राज्य सरकार के अधिकारियों द्वारा किया गया निरीक्षण

By: Murari Soni

Published: 19 Jul 2019, 11:11 AM IST

मुंगेली. जल संरक्षण एवं जल संचयन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले ग्राम पंचायतों के केस स्टडीस में छत्तीसगढ़ के 8 ग्राम पंचायतों में से मुंगेली जिले के लोरमी विकासखण्ड के ग्राम पंचायत झिरिया का चयन(PM Water Conference)किया गया है। इसे हमर जंगल हमर आजीविका के तहत सभी विभागों के अभिसरण से विकसित किया जा रहा है।

इस ग्राम पंचायत को श्रेष्ठ कार्यो के लिए नामांकित किया गया था, जिसके स्थल-भौतिक सत्यापन के लिए एनआईआरडी एण्ड पीआर हैदराबाद के द्वारा नियुक्त तकनीकी विशेषज्ञ डॉ. बीसी मैकप, प्रो. आईआईटी खडग़पुर के साथ राज्य नोडल अधिकारी नारायण निमजे अधीक्षण अभियंता, विनय गुप्ता कार्यपालन अभियंता, प्रचार-प्रसार अधिकारी संदीप चौधरी द्वारा ग्राम पंचायत-झिरिया में मनरेगा और डीएमएफ योजना के तहत कराए गए कार्यों का निरीक्षण एवं लाभार्थी से चर्चा कर योजना से हुए लाभ -हानि के बारे में जानकारी ली गई।

मनरेगा योजना से डबरी हितग्राही मुन्ना तिलगाम, नरेश तिलगाम, जोनिहा, हजारी, रम्भू और स्व सहायता समूह द्वारा की जा रही मछली पालन की जानकारी ली गई। केन्द्रीय दल के स्थल-भौतिक सत्यापन के दौरान जिला पंचायत मुंगेली के सहायक परियोजना अधिकारी विनायक गुप्ता, तकनीकी समन्वयक नवनीत कुमार सोनी, आईसीआरजी उपयंत्री विकास कुमार नायक, उप यंत्री दामोदर प्रसाद वर्मा और जनपद पंचायत लोरमी से मुख्य कार्यपालन अधिकारी लक्ष्मीकांत कौशिक, अनुविभागीय अधिकारी (ग्रा.यां.से.) बीपी गुप्ता, कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा अशोक कुमार साहू, उप यंत्री सतीश साहू, खुशवंत पटेल, तकनीकी सहायक चन्द्रप्रकाश कश्यप, इम्तियाज अली, खेमराज पात्रो, राहूल सिंह क्षत्रीय, सूर्यप्रकाश राजपूत, रविकांत जायसवाल, गांगेश साहू, बेयरफुट टेक्निशियन प्रकाश साहू, जनीराम साहू, ग्राम पंचायत झिरिया के सरपंच बबलू यादव, सचिव तातूराम निर्मलकर, ग्राम रोजगार सहायक टेकराम नेताम एवं झिरिया के समस्त ग्रामवासी उपस्थित थे।

 

मुख्यमंत्री ई-साक्षरता केंद्र के क्रियान्वयन के लिए समिति गठित
मुंगेली संचालक, राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण, छत्तीसगढ़ रायपुर के निर्देशानुसार मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम अंतर्गत जिले में संचालित मुख्यमंत्री ई-साक्षरता केन्द्र मुंगेली में योजना के सफल क्रियान्वयन एवं केन्द्र के सुचारू संचालन में मार्गदर्शन एवं सहयोग के लिए जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति का गठन किया गया है। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे इसके अध्यक्ष होंगे। इसके अलावा सदस्यों में जिला पंचायत सीईओ लोकेश चन्द्राकर, अपर कलेक्टर मुंगेली राजेश नशीने, राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण के प्रतिनिधि अधिकारी सहायक संचालक प्रशांत कुमार पाण्डेय, डिप्टी कलेक्टर एवं सहायक आयुक्त, आदिवासी विकास आरआर चुरेन्द्र, परियोजना अधिकारी, प्राचार्य, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान जेपी पुष्प, जिला शहरी विकास अधिकरण एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी मुंगेली राजेश गुप्ता, संभागीय संयुक्त संचालक, लोक शिक्षण के प्रतिनिधि अधिकारी सहायक संचालक एडी दिलावर, जिला शिक्षा अधिकारी जीपी भारद्वाज, उप संचालक, समाज कल्याण अरविन्द सोनी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग राजेन्द्र कश्यप, श्रम पदाधिकारी एवं सहायक संचालक, जिला कौशल विकास प्राधिकरण ज्योति शर्मा, अग्रणी बैंक प्रबंधक पीसी मिश्रा, जिला जनसंपर्क अधिकारी व्हीएल मारकण्डेय, जिला मिशन समन्वयक, समग्र शिक्षा एसके अम्बष्ट, जिला प्रबंधक चिप्स सोनम तिवारी, राज्य स्त्रोत समूह रविन्द्र कुमार तिवारी एवं जिला लोक शिक्षा समिति मुंगेली के परियोजना अधिकारी डॉ. आईपी यादव सदस्य सचिव बनाए गए हैं। 
डिजिटल असाक्षरों को देना है प्रशिक्षण
उल्लेखनीय हैं कि केन्द्र में 14 से 60 वर्ष के शहरी डिजिटल असाक्षरों को एक माह में प्रशिक्षित किए जाने का प्रावधान हैं। शिक्षार्थियों के लिए अगले बैच का प्रारम्भ माह के प्रथम कार्य दिवस से होगा। शिक्षार्थियों के चिन्हांकन(PM Water Conference) में शिक्षा के मुख्य धारा से दूर अथवा वंचित वर्ग सहित स्थानीय सफाईकर्मी, कामगार संगठन, स्व सहायता समूह इत्यादि वर्ग के परिवारों को प्राथमिकता दी जाएगी।

Show More
Murari Soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned