Whatsapp से कर सकते हैं लाखों करोड़ों रुपए की कमाई, बस इतना करना होगा काम

Whatsapp से कर सकते हैं लाखों करोड़ों रुपए की कमाई, बस इतना करना होगा काम

Saurabh Sharma | Updated: 24 Jun 2019, 03:01:23 PM (IST) म्‍युचुअल फंड

Whatsapp के जरिए आप mutual fund में निवेश कर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। इसमें SIP और Long Term Investment के थ्रू निवेश कर सकते हैं।

नई दिल्ली। सोशल मीडिया ( Social Media ) सिर्फ आपको अपनों से जोड़े रखने का ही काम नहीं करती है। बल्कि कमाई करने के भी भरपूर मौके दे रही है। फिर चाहे वो यूट्यूब ( Youtube ) हो या फिर फेसबुक ( Facebook ) या फिर कोई और प्लेटफॉर्म। अब इसमें वॉट्सएप ( WhatsApp ) का भी नाम जुड़ गया हैै। खास बात तो ये है कि आप वाट्सएप के जरिए म्यूचुअल फंड ( mutual funds ) में निवेश कर लाखों करोड़ों रुपयों की कमाई कर सकते हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर आपको इसके लिए क्या करना होगा...

इस तरह से करें शुरुआत
सबसे पहले आपको म्यूचुअल फंड प्रोवाइडर की वेबसाइट पर जाना होगा। उसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालकर नियमों और शर्तों के साथ एग्री होना होगा। वहीं कुछ कंपनी निवेश की शुरुआत में मोबाइल पर मैसेज भेजने को भी कहते हैं।

यह होती हैं शर्तें
इस तरह के निवेश में ना तो पॉलिटल लोगों को सुविधा मिलती है और ना ही उन लोगों को मौका मिलता है जो जॉइंट होल्डिंग सपोर्ट से निवेश करना पसंद करते हैं। यह सुविधा सिर्फ सिंगल होल्डिंग फॉर्मेट वालों के लिए है।

करना होगा केवाईसी वेरिफिकेशन
इस प्रोसेस में सबसे जरूरी है केवाईसी वेरिफिकेशन। अगर आप कंपनी के नियमों और शर्तों मंजूर कर लेता है तो एक मैसेज आता है। जिसमें केवाईसी वेरिफिकेशन के लिए पैन नंबर की डिमांड की जाती है। जिसके बाद पैन की जांच की जांच की जाती है।

ऐसे चुने प्लान
अब बारी होती है प्लान चुनने की। इसमें आपको यह डिसाइड करना होता है कि आप एक मुश्त निवेश करेंगे या फिर स्मॉल इंवेस्टमेंट प्लान लेंगे। वहीं आपको निवेश की रकम के अलावा किस्तों की संख्या के बारे में भी जानकारी देनी होगी। जिसके बाद एक ऑर्डर समरी जेनरेट होती है और निवेश करने वाले को डीटेल की पुष्टी या फिर एडिट करने को कहा जाता है।

ऐसे कर सकते हैं भुगतान
जब आप सारी डीटेल की पुष्टी कर देते हैं उसके बाद आपको आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपह भेजा जाता है। उसके बाद निवेशक को यूआरएम नंबर लेने के लिए ओटीपी नंबर डालना होता है। अपने प्लान को एक्टिवेट करने के लिए बैंक के साथ यूआरएन रजिस्टर कराना जरूरी होता है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned