अब नहीं कर पाएंगे टैक्स की चोरी, सरकार उठाने जा रही है ये बड़ा कदम

अब नहीं कर पाएंगे टैक्स की चोरी, सरकार उठाने जा रही है ये बड़ा कदम

Manish Ranjan | Updated: 31 Mar 2019, 02:50:46 PM (IST) म्‍युचुअल फंड

  • इनकम टैक्स चोरी करने वालों की खैर नही
  • आयकर विभाग की रहेगी नजर
  • आपकी हर गतिविधि पर होगी विभाग की नजर

नई दिल्ली। टैक्स की चोरी करने वालों की अब खैर नही। दरअसल आयकर विभाग ने टैक्स चोरी पर लगाम लगाने के लिए 1 अप्रैल से बिग डाटा एनालिटिक्स का इस्तेमाल करने जा रहा है। जिसके जरिए विभाग लोगों के सोशल नेटवर्किंग प्रोफाइल पर नजर रखेगा। इसके लिए आयकर विभाग के प्रोजेक्ट इनसाइट नाम के कार्यक्रम की शुरुआत करने जा रही है। जिसका कुल खर्च 1,000 करोड़ रुपए का होगा।

ऐसे काम करेगा प्रोजेक्ट इनसाइट

प्रोजेक्ट इनसाइट के जरिए लोगों के सोशल नेटवर्किंग प्रोफाइल पर नजर रखी जाएगी और सोशल मीडिया पर अपलोड किए जाने वाली तस्वीरों और वीडियो के जरिये खर्च के तरीकों का पता लगाया जाएगा। अगर किसी व्यक्ति द्वारा घोषित आय के मुकाबले खरीद और यात्रा खर्च में विसंगति पाई जाएगी तो आयकर अधिकारियों को इस विसंगति की जानकारी दी जाएगी। अतंर पता लगने पर आयकर विभाग उस व्यक्ति पर कार्रवाई करेगा।

आपकी हर गतिविधि पर रहेगी नजर

विभाग आपकी हर गतिविधि पर नजर रखेगा। मसलन आप विदेश यात्रा कर रहे हैं और सोशल मीडिया पर तस्वीरें व पोस्ट कर रहे हैं या महंगी कार खरीद रहे हैं, जो रिटर्न दाखिल करने में दर्ज आय के अपने साधनों से परे की हैं, तो आयकर विभाग उसका विश्लेषण करने के लिए बिग डाटा का इस्तेमाल कर सकता है और आपकी आय और खर्च की विसंगति की जांच कर सकता है।

इन देशों में होता है इस्तेमाल

आपको बता दें कि भारत के अलावा इस तरह की प्रणाली बेल्जियम, कनाडा और ऑस्‍ट्रेलिया जैसे देशों भी प्रसारित है। अब भारत भी इस प्रणाली का हिस्सा बनकर टैक्स चोरी पर लगाम लगा सकेगा। ब्रिटेन में 2010 में प्रौद्योगिकी की शुरुआत होने के बाद से इस प्रणाली से करीब 4.1 अरब पाउंड के राजस्व के नुकसान पर लगाम लगाई गई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned