रणनीति बनाकर 1 रुपए को भी ऐसे बना सकते हैं 1 करोड़ रुपए

बी. गोपकुमार, सीईओ, रिलायंस सिक्योरिटी

By: manish ranjan

Published: 17 Mar 2018, 05:24 PM IST

नई दिल्ली। हर एक करोड़ रुपए कमाने की शुरुआत एक रुपए की पूंजी से होती है। दूसरे शब्दों में कहे तो कई वर्षों के बाद कमाए गए प्रत्येक 1 करोड़ रुपए की बीज एक चमकदार सिक्का द्वारे ही रखा जाता है। जब भी धन कमाने की बात आती है तो इक्विटी कम समय में पैसा बनाने का सबसे आसान तरीका है। इक्विटी में पैसा बनाने का ट्रिक, मैराथन की तरह, जितनी जल्दी आप शुरू करें और अपनी गति बनाए रखें। आपको उतना बड़ा फायदा मिलेगा। जल्‍दी और देरी से शुरू करने का यह अंतर बहुत अधिक हो सकता है। सिर्फ 10 साल पहले निवेश शुरू करने से आपका पैसा कई गुना बढ़ सकता है। युवाओं के पास 500/1000 रुपए की छोटी पूंजी आसानी से पॉकेट मनी के लिए होती है।

एमएफ के जरिए
युवाओं को आज के समय में माता-पिता से अच्छी रकम मिलती है। हालांकि, मिले हुए पैसे हमेशा दोस्तों के साथ मनोरंजन पर खर्च होता है। क्या आपने कभी सोचा है कि आप पिज्जा खरीदने,फिल्म टिकट खरीदने, क्लबों में जाने और दोस्तों के साथ आउटिंग पर जाने के लिए कितना पैसा खर्च करते हैं? कई युवा बुरी आदतों जैसे धूम्रपान पर भी पर खर्च करना शुरू कर देते हैं। कोई भी आपनी मासिक खर्चों का सिर्फ 10% बचा सकता है और म्युचुअल फंड में 500 रुपए के रूप में निवेश करता है। क्या आपने राकेश झुनझुनवाला या वॉरेन बफेट जैसे निवेशकों के बारे में सुना है?उन सभी ने अपने जीवन में काफी पहले शेयरों में निवेश करना शुरू कर दिया। इसके चलते वे बड़ा धन जुटाने में सफल हो पाएं। एक म्युचुअल फंड सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) आपको फंड मैनेजर द्वारा चुने गए शेयरों के संग्रह में नियमित रूप से बचत और निवेश करने की अनुमति देता है। म्युचुअल फंड के बारे में वैसी ही सोचें जैसे एक वेडिंग प्लानर पैसे लेकर शादी समारोह का बेहतरीन आयोजन करता है। वह हर तरह कड़ी मेहनत करता है और शादी समारोह को यादगार बनता है, जबकि आप शांति से बैठकर शादी का आनंद लेते हैं। आज एक नौजवान म्युचुअल फंड्स में 500 रुपए प्रति माह के साथ निवेश शुरू कर सकते हैं और अच्छे रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं। पिछले पांच सालों में फंड ने आसानी से प्रत्येक वर्ष 15-20% रिटर्न दिए हैं। यदि कोई फंड प्रत्येक वर्ष 20 फीसदी की दर से ग्रोथ करता है तो केवल 500 रुपए मासिक एसआईपी आपके निवेश को लगभग 48 महीने में दोगुना कर सकता है। यदि आपके एक महीने में सिर्फ एक सप्ताह के लिए पिज्जा नहीं खाते हैं तो आप आसानी से 500 रुपए बचा सकते हैं।

एसआईपी-पिंग स्टॉक
युवा अपने माता-पिता या बुजुर्गों से शेयर बाजार पर चर्चा करते हुए जरूर सुने होंगे। यह एक ऐसी जगह है जहां विभिन्न कंपनियों के शेयरों की खरीद-बिक्री होती है। यदि आप 100 रुपए का शेयर खरीदते हैं और उसे 125 रुपए मूल्‍य पर बेचते हैं तो आप 25 रुपए का लाभ कमा सकते हैं। यदि आपने 100 शेयर खरीदे हैं, तो आपको एकमुश्त लाभ 2500 रुपए का होगा। एक म्युचुअल फंड मैनेजर, वेडिंग प्लानर जैसा है। वह वही शेयर खरीदने के लिए चुनते हैं, ताकि आप एसआईपी कर सकें। आज भी कई युवा अपने आप ही निवेश करना चाहते हैं। इसका मतलब है कि युवाओं को यह चुनना है कि वे कहां निवेश कर रहे हैं, कितना निवेश करना है और उनके संभावित लाभ क्या होगा।

रणनीति बेहद जरूरी
संक्षेप में, वे अपने स्वयं के फंड मैनेजर बनना चाहते हैं। यह स्टॉक एसआईपी रणनीति के साथ संभव है। जैसे ही एमएफ एसआईपी एक म्युचुअल फंड के लिए करता है। उसी तरह एक स्टॉक एसआईपी आपको नियमित अंतराल पर एक पूर्व निर्धारित मात्रा में स्टॉक खरीदने की अनुमति देता है। यदि आप इस समय की अवधि में करते हैं, तो आप आसानी से कम औसत लागत पर अधिक शेयर खरीद सकते हैं। जब शेयर की कीमत बढ़ जाती है, तो आप बहुत अधिक लाभ की उम्मीद कर सकते हैं। आपको केवल उन स्टॉक का चयन करना है जिन पर आप ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और हर महीने इन शेयरों में नियमित रूप से छोटे रकम निवेश करते हैं। इस तरह, आप संभावित रूप से अगले झुनझुनवाला या बफेट बनने के रास्ते पर हैं। किसी भी निवेशक को कुछ शेयरों पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। जैसे आप नियमित रूप से तंदरुस्‍त रहने के लिए जिम जाते हैं उसी तरह से नियमित निवेश करते रहना चाहिए।

एक व्यापारी की तरह लचीला बनें
यदि आप जोखिम लेने में सक्षम है तो शेयरों में ट्रेडिंग करने से आपको कम समय में ज्‍यादा पैसा बनाने का मौका मिलता है। युवा रोज दिन अपने फोन पर घंटों बिताते हैं। वहीं, अगर वे चाहें तो सिर्फ 15-30 मिनट प्रति दिन देकर स्‍टॉक बाजार में ट्रेडिंग अपने फोन के जरिए आसानी से शुरू कर सकते हैं। इसके एवज में वे अच्‍छा अर्न कर सकते हैं। आज के समय में सुपर फास्ट टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित मोबाइल ट्रेडिंग ऐप एक सेकेंड से भी कम समय लेता है। आज, युवा निवेशक ज्‍यादा रिटर्न के लिए एडवांस टेक्‍नोलॉजी और अच्‍छे ब्रोकर का मदद ले रहे हैं। यात्रा के दौरान किसी भी समय वेब, मोबाइल और ऐप-आधारित ट्रेडिंग ने शेयर में निवेश करना बहुत ही आसान बना दिया है। ब्रोकर द्वारा प्रदान किए गए विशेषज्ञ अनुसंधान युक्तियों और विश्लेषकों के उपयोग के साथ, कई छात्र स्टॉक ट्रेडिंग को गंभीरता से ले रहे हैं। पहले एक ट्रेडिंग शुरू होने के साथ गलतियां की संभावना अधिक होती थी। शुरुआती 20 के दशक में जोखिम की भूख किसी भी30 के दशक के मध्य प्रत्यक्ष इक्विटी में निवेश करने की तुलना में कहीं ज्यादा है। एक बार निवेशक इक्विटी ट्रेडिंग के साथ अपने को व्यवस्थित कर लेते हैं, तो वे पोर्टफोलियो जोखिम को विविधता लाने के लिए एक मिशन के साथ मुद्राओं और कमोडिटी जैसे अन्य संपत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप जितनी जल्द निवेश और ट्रेडिंग शुरू करते हैं, वह आपको लिए ज्‍यादा कमाने का मौका बनाने में मदद करता है।

 

manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned