वकील की हत्या की खबर फैलते ही अचानक कोतवाली में इक्टठी हो गई भीड़ और फिर..

Highlights

. अचानक गायब हुए थे वकील
. घर न पहुंचने पर परिजनों ने की पुलिस से शिकायत
. पुलिस पर आरोपियों को छोड़ने का आरोप

मुजफ्फरनगर. 15 अक्टूबर से गायब वकील की हत्या के मामले में शनिवार को वकीलों का जमावड़ा नगर कोतवाली में लग गया। यहां पहुंचे वकीलों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। वकीलों का आरोप है कि युवा अधिवक्ता के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए मृतक के परिजनों द्वारा पुलिस से शिकायत की गई थी। पुलिस ने आरपोपियों को पकड़ने के बाद छोड़ दिया। एसपी अभिषेक यादव एसपी सिटी सतपाल अंतिल देर रात तक नगर कोतवाली में जमे रहे अधिकारियों ने किसी तरह अधिवक्ता को समझा-बुझाकर शांत किया।

यह भी पढ़ें: युवती से पहले किया गंदा काम, अब कर रहा ऐसी फरमाइश

जानकारी के अनुसार, मामला नगर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला लद्धावाला का है। मोहल्ला निवासी युवा वकील समीर सैफी पुत्र अजहर शफी अचानक लापता हो गया था। समीर सैफी घर से जाते वक्त अपने दोस्तों से मिलने की बात कहकर गया था। लेकिन वह देर रात तक घर नहीं लौटा। परिजनों को अजीब भय सताने लगा। सुबह दिन निकलते ही अधिवक्ता समीर सैफी के परिजन नगर कोतवाली पहुंचे। पुलिस को समीर सैफी के लापता होने की जानकारी दी। जिसके बाद मृतक अधिवक्ता के परिजनों द्वारा मोहल्ले को ही एक सीए सहित कई लोगों पर उसकी हत्या करने का आरोप लगाते हुए पुलिस से शिकायत की थी। जिसमें पुलिस द्वारा आरोपियों को पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया गया मगर बाद में छोड़ दिया गया।

अधिवक्ताओं का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और आरोपियों को गिरफ्तार की मांग की। थाना भोपा क्षेत्र के गांव सीकरी स्थित एक पोल्ट्री फार्म से मृतक अधिवक्ता के शव को बरामद कर लिया। हत्या में प्रयुक्त कार भी पुलिस ने अपने कब्जे में ले ली। अधिवक्ता की हत्या की खबर नगर में फैलते ही अधिवक्ता नगर कोतवाली में पहुंच गए और हंगामा करने लगे।

virendra rajak
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned