प्रदेशभर के सभी इंटर काॅलेजों को 15 दिसंबर से बंद करने का ऐलान

Highlights
- मिड-डे मिल में चूहा मिलने पर प्रधानाचार्य और तीन शिक्षकों के खिलाफ केस दर्ज करने का मामला
- माध्यमिक शिक्षक संघ के नेताओं ने की 15 दिसंबर से प्रदेशभर के इंटर कॉलेजों में तालाबंदी की घोषणा
- शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर वापस लेने की मांग पर अड़े शिक्षक

By: lokesh verma

Published: 08 Dec 2019, 10:57 AM IST

मुजफ्फरनगर. मिड-डे मिल (Mid-day Meal) में चूहा मिलने के मामले में प्रधानाचार्य और तीन शिक्षकों के खिलाफ केस दर्ज होने के बाद माध्यमिक शिक्षक संघ (Secondary Ueachers Union) ने मोर्चा खोल दिया है। माध्यमिक शिक्षक संघ के नेताओं केस दर्ज करने के विरोध में 15 दिसंबर से प्रदेशभर के सभी इंटर कॉलेजों (Inter College) में तालाबंदी की घोषणा कर दी है। उन्होंने इस मामले को विधान परिषद (Legislative Assembly) में उठाने की बात कही है।

यह भी पढ़ें- Sambhal: ठंड में बच्चों से धुलवाया जा रहा स्कूल का फर्श, वीडियो वायरल

बता दें कि मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में मिड डे मिल में चूहा मिलने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। प्रिंसिपल व तीन शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर के विरोध में शिक्षकों ने एक बैठक की। इस दौरान एमएलसी व माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा ने कहा कि यह शिक्षकों के सम्मान और स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने वाला कदम है। इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने पचेंडा के जनता इंटर कॉलेज नहीं, बल्कि प्रदेशभर के शिक्षकों का अपमान किया है। इस मामले को वह 17 दिसंबर से शुरू होने जा रहे विधान परिषद के सत्र में उठाएंगे। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि 14 दिसंबर तक केस वापस नहीं लिया गया तो 15 दिसंबर से प्रदेशभर के इंटर कॉलेजों में तालाबंदी की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मामले से शिक्षकों का कोई लेना-देना नहीं था।

इस दौरान विधान परिषद सदस्य व शिक्षक नेता हेमसिंह पुंडीर ने कहा कि जब तक हम एकजुट रहेंगे कोई हमारा उत्पीड़न नहीं कर सकेगा। जिला प्रशासन ने अगर एक भी शिक्षक को नुकसान पहुंचाया तो प्रदेशभर के शिक्षक जेल भरेंगे। वहीं, संघ के जिलाध्यक्ष शिव कुमार यादव ने कहा कि शिक्षक प्रशासन के हर काम में सबसे आगे रहते हैं। हमारी ईमानदारी का यह सिला दिया जा रहा है। शिक्षकों में खौफ पैदा करने के लिए केस दर्ज किए जा रहे हैं। शिक्षक अपने सम्मान के लिए लड़ाई से पीछे नहीं हटेंगे। इस मौके पर प्रधानाचार्य परिषद अध्यक्ष सारिका जैन ने कहा कि इस एफआईआर का हम सब विरोध करते हैं। इस मामले को लेकर सभी शिक्षक एकजुट हैं। जब तक एफआईआर वापस नहीं ली जाती है, तब तक सभी काॅलेज मिड-डे मिल का बहिष्कार करेंगे।

यह भी पढ़ें- प्रसव पीड़ा से कराहती गर्भवती ने बीच सड़क पर ही दे दिया बच्चे को जन्म, देखें वीडियो

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned