सुसाइड से पहले बोली- पापा उन्‍होंने मेरे साथ गंदी हरकत की है

पिता ने कहा- जैसा मेरी बेटी के साथ हुआ ऐसा किसी बेटी के साथ न हो...

मुजफ्फरनगर। जनपद मुजफ्फरनगर में शोहदो की छेड़छाड़ से परेशान होकर एक दलित युवती ने अपने आप को बाथरूम में बंद कर मिट्टी का तेल छिड़क कर खुद को आग लगा ली। जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई, वहीं परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराते हुए न्याय की गुहार लगाई है। जबकि उधर समाज के लोगों ने गांव में पंचायत कर आरोपी परिवार का सामाजिक बहिष्कार किया है।

दरअसल मामला मंसूरपुर थाना क्षेत्र के गांव लछेड़ा का है। जहां एक युवती ने गांव के मनचलों की छेड़खानी से तंग आकर बाथरूम में नहाने के बहाने आकर अपने ऊपर मिट्टी का तेल छिड़क कर आग लगा ली। युवती की चीख पुकार सुन कर आस-पड़ोस के लोगों ने बाथरूम का दरवाजा तोड़ कर युवती को बाहर निकाला और उसे जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां उसकी मौत हो गई।


शौच करने गई तो पहुंच गए मनचले
 
आपको बता दें कि युवती पिछले कई दिनों से खतौली थाना क्षेत्र के गांव अपने परिवार के यहां खानपुर में गई हुई थी। 15 सितम्बर को युवती को गांव के ही दो युवक मोनू और सोनू ने छेड़छाड़ की। मनचलों ने घटना को अंजाम उस वक्त दिया, जब युवती एक छोटी बच्ची के साथ शौच के लिए जंगल गई हुई थी। युवती की चीख पुकार सुन मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने दोनों आरोपियों को धर दबोच लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने इस मामले में छेड़छाड़ का मुकदमा कायम कर दोनों आरोपियों के जेल भेज दिया।

मानसिक तनाव में थी युवती

मानसिक तनाव के चलते पीड़ित युवती ने शुक्रवार को बाथरूम का दरवाजा बंद कर आग लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों के अनुसार युवती इस घटना से बेहद परेशान थी और अपनी और परिवार की बेइज्जती महसूस कर रही थी। जिस वजह से युवती ने आत्महत्या की। मृतक युवती के पिता ने बताया कि दो लड़के थे वो हमारी लड़की को ज्यादा परेशान कर रहे थे। उसे हमने उसकी बुआ के भेज दिया था। वहां भी उन्होंने उसका पीछा किया जब वो शौच के लिए गई तो उसे उठाकर ले गए और उसके साथ बहुत बदतमीजी की।


मेरी बेटी को इंसाफ मिले

इसके बाद हम खतौली थाने में गए, वहां हमारी कोई सुनवाई नहीं हुई। उसके बाद हम लड़की को लेकर अपने घर आ गए। उसने घर आकर कुछ खाया पिया नहीं हमने उसकी बहुत खुशामद की, हमने कहा बेटा कोई बात नहीं अब जो हो गया उसे छोड़ो। वो कहने लगी नहीं पापा मेरे साथ बहुत बदतमीजी हुई है। मैं बहुत शर्मिंदा हूं। मैं क्या करूं क्या ना करूं। उसके बाद लड़के की बहू इधर खाना बना रही थी और लड़की बाथरूम में नहाने गई और उसने आत्महत्या कर ली। हम इंसाफ चाहते हैं जैसे मेरी बेटी के साथ जो हुआ ऐसा किसी की लड़की के साथ नहीं होना चाहिए।

पुलिस की बहुत खुशामद

पीड़ित पिता ने कहा कि हमने मामला की शिकायत करने के लिए पुलिस की बहुत खुशामद की। वो कहने लगे ये तो होता रहता है लड़की का मामला है दबाया ही करते हैं। हम इस कारण अपने घर चले आए। इस घटना को लेकर पूरा गांव समाज सकते में है कि गांव के ही युवकों की छेड़खानी से तंग आकर एक गांव की लड़की को अपनी जान देनी पड़ी। जिस कारण गांव समाज के लोगों ने एक पंचायत कर आरोपी के परिवार का सामाजिक बहिष्कार कर दिया है और घोषणा कर दी है कि कोई भी गांव का व्यक्ति ना तो उनके घर जाएगा और ना ही उन्हें अपने पास बैठाएगा।

आरोपी का बाप कहता है मेरा बेटा सांड है

वहीं इस पूरे मामले को लेकर पंचायत करने वाले पंच जगसत जी ने बताया कि ये दबंग आदमी है ये किसी की बात नही मानते हैं। ये पैसे के बल पर लड़कियों से छेड़खानी करते हैं। हमें इन लड़कों से खतरा है ये किसी और लड़की के साथ भी ऐसा कर सकते हैं। हम चाहते हैं कि इन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। हमने इनके मनचलों के पिता से कहा कि तेरे बच्चे छेड़खानी करते हैं तो वो कहने लगा की ये तो ऐसे ही करेंगे। ये इसी के लिए सांड बनाया है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि ये लड़के पहले से ऐसी हरकत कर रहे थे। जिन्हें समझाया गया लेकिन ये नहीं माने इनकी हरकतों से तंग आकर ही लड़की ने आत्महत्या की है।

एसपी क्राइम प्रदीप गुप्ता ने बताया

वहीं इस पूरे घटना में एसपी क्राइम प्रदीप गुप्ता का कहना है मंसूरपुर के गांव लछेड़ा की एक लड़की थी। वो दो दिन पहले अपने रिलेशन में खतौली गई थी। उसके पीछे गांव के ही दो लड़के मोनू और सोनू गये उसके साथ छेड़खानी की। इसका मुकदमा थाना खतौली में दर्ज हुआ दोनों आरोपियों को जेल भेजा गया है। अगले दिन लड़की ने अपने घर जाकर मिट्टी का तेल डालकर आग लगाई और सुसाइड कर लिया।आरोपियों के खिलाफ दूसरा मुकदमा थाना मंसूरपुर में दर्ज करा दिया गया है। प्रथम द्रष्टया लग रहा है कि लड़की ने छेड़खानी से तंग आकर आत्महत्या की है।
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned