इस वजह से मच्छरदानी लेकर शुगर मिल के बाहर पहुंचे भाकियू कार्यकर्ता

नहीं खत्म हो रही किसानों की परेशानी, आसमानी आफत के बाद अब नई मुसीबत,भारतीय किसान यूनियन ने शुगर मिल के बाहर किया प्रदर्शन

By: Ashutosh Pathak

Published: 11 May 2018, 10:45 AM IST

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश में भले ही सरकार किसानों की आय दुगनी करने की बात कह रही हो मगर किसानों की स्थिति जस की तस बनी हुई हैं। पिछले दिनों तूफान और बारिश की वजह से फसलों के नुकसान से किसान उबर भी नहीं पाए थे कि उनके सामने एक नई मुसिबत खड़ी हो गई है। मुज़फ्फरनगर में शुगर मिल मालिकों मे मिल को बंद करने का ऐलान कर दिया है। जिससे किसानों में हड़कंप मच गया है। वहीं किसानों की परेशानी को देखते हुए भाकियू ने अब मिल के बाहर प्रदर्शन कर ना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें : पतंजलि को लेकर बड़ा खुलासा: आचार्य बालकृष्ण के नाम से हो रहा था ऐसा काम

दरअसल शुगर मिल किसानों के गन्ने का भुकतान नहीं कर रहें हैं ऊपर से शुगर मिल मालिकों ने मिल को बंद करने का नोटिस दे दिया है। जिससे किसान काफी परेशान हो गए हैं क्योंकि अभी भी किसानों कई किसानों के कई बीघा गन्ने खेतों में खड़ें हैं।लेकिन अब आईपीएल शुगर मिल तितावी ने गांवो में ऐलान करा दिया कि दो दिन के अन्दर मिल बन्द हो जाएगा किसान अपना गन्ना जल्द से जल्द ले आये। ये ऐलान सुन किसानों में हड़कम्प मच गया क्योंकि दो दिन में मिल तक वो गन्ना नहीं पहुंचा सकते।

यह भी पढ़ें : आज इन राशि वालों को रहने वाली है व्यर्थ की चिंता, जानिये क्या कहते हैं आपके सितारे

किसानों की इस समस्या को देखते हुए भाकियू ने मिल के गेट पर ही डेरा डाल दिया और खाट मच्छर दानी लगाकर मिल के गेट पर ही धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिसके बाद मिल अधिकारियों ने मौके पर आकर किसानों को आश्वासन दिया की जब तक किसानों का गन्ना खेतों से खत्म नहीं होता तब तक मिल चलता रहेगा, जिसके बाद किसान माने।

यह भी पढ़ें : सर्इदा खातून की इस बहादुरी को सलाम, जिससे डर गया था वन विभाग उसने पलक झपकते ही कर दिखाया यह काम

भाकियू के युवा मंडल अध्यक्ष धीरज लाटियान ने कहा कि दो दिन पहले गांव-गांव में गाड़ी घुमा कर घोषणा की गई थी कि किसान जल्दी-जल्दी गन्ना मिल में डाल दें, नहीं तो10 तारीख को मिल बंद कर रहे हैं। इस खबर को सुनते ही किसानों में एक हड़बड़ाहट पैदा हो गई। एक तरफ गेहूं की फसल और दूसरी तरफ गन्ने का मामला और इतनी जल्दबाजी में किसानों का गन्ना शुगर मिल तक ले जाना असंभव था। जिसके बाद धीरज लाटियान ने मिल के बाहर धरना शुरु कर दिया और कहा कि जब तक किसान का एक-एक गन्ना खेत में है तब तक यह मिल चलेगा। हंगामे और प्रदर्शन के बाद आखिरकार मिल मालिक ने मांगों को मान लिया।

वीडियो देखें :चारपाई और मच्छरदानी लेकर प्रदर्शन करने पहुंची भाकियू |



Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned