अस्पताल को बम से उड़ाने की धमकी

पुलिस महकमे में हड़कंप की स्थिति। पत्र में लिखा है कि जिला अस्पताल को बम से उड़ा दिया जाएगा। इसके बाद घबराए अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू कर दी है।

मेरठ। सावन में कांवड़ के चलते जहां पूरा शहर भगवा रंग में रंगा हुआ नजर आ रहा है। हर तरफ सिर्फ हर-हर बम-बम के जयकारे गूंज रहे हैं। वहीं जिला अस्पताल को बम से उड़ाने की धमकी से पुलिस महकमे के हाथ-पांव फूल गए हैं। दरअसल गुरुवार को सीएमओ कार्यालय में एक पत्र पड़ा मिला, जिसमें जिला अस्पताल को बम से उड़ाने की बात कही गई है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने पत्र मिलने की पुष्टि की है। वहीं पुलिस अधिकारियों ने पत्र की जांच शुरू कर दी है। हालांकि अभी तक पत्र भेजने वाले के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। बता दें कि इससे पहले भी जिला अस्पताल को बम से उड़ाने की धमकी मिल चुकी है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को सीएमओ कार्यालय में एक पत्र पड़ा था। वहां के कर्मचारी ने जब इस पत्र को देखा तो वह सीधा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के पास पहुंचा। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने जब पत्र पड़ा तो होश फाख्ता हो गए। पत्र में लिखा है कि जिला अस्पताल को बम से उड़ा दिया जाएगा। इसके बाद घबराए अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू कर दी है। वहीं पत्र मिलने की सूचना के बाद देहली गेट थाना पुलिस ने जिला अस्पताल परिसर का जायजा भी लिया।

दो थाने की पुलिस जुटी जांच में

बता दें कि जिला अस्पताल देहली गेट थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है, जबकि सीएमओ कार्यालय सिविल लाईन थाना क्षेत्र में आता है। दोनों ही थानों की पुलिस द्वारा मामले की जांच की बात कही जा रही है।

पहले भी मिल चुकी है धमकी


बता दें की इस जिला अस्पताल को एक बार पहले भी बम से उड़ाने की धमकी मिल चुकी है, लेकिन उस समय जांच के बाद पता चला था कि वह धमकीभरा पत्र एक मरीज का सही ढंग से इलाज न होने पर उसके द्वारा ही लिखा गया था।
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned