कैराना- नूरपुर उपचुनाव से पहले मुजफ्फरनगर पहुंचकर अजित सिंह ने किया ये काम, भाजपा के उड़े होश

सभी को पढ़ाया एकता का पाठ

By: Iftekhar

Published: 15 May 2018, 07:35 PM IST

मुजफ्फरनदर. कैराना और नूरपुर उपचुनाव को लेकर राजनीति का अखाड़ा बन चुके पशिचमी उत्तर प्रदेश में मंगलवार को राष्ट्रीय लोक दल के नेता चौधरी अजित सिंह पहुंचे। यहां सबसे पहले उन्होंने किसान भवन पहुंचकर स्वः चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत के चित्र के सम्मुख पुष्पांजलि अर्पित की । इसके बाद मंच की ओर चले गए। इसके बाद उन्हेंने वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया। चौधरी अजित सिंह ने अपने संबोधन में इशारों-इशारों में भारतीय जनता पार्टी की जमकर सिंचाई की। इस दौरान उन्होंने किसानों को एकजुट होकर अपने हित की लड़ाई लड़ने का आवाहन किया।

तूफान के बाद यूपी के इस शहर में अब भूस्खलन का कहर, दो की मौत, दो घायल और कई जिंदा दबे

अजित सिंह ने किसानों को इनका इतिहास याद दिलाया। उन्होंने कहा कि जो कौम अपने बुजुर्ग को भूल जाती है, वह कौम जिंदा नहीं रहती है। इस दौरान उन्होंने यह भी साफ किया कि यहां पर उनका कौम से मतलब किसान कौम से है, न कि किसी जाति या धर्म की। उन्होंने चौधरी महेन्द्र सिंह टिकैत के कामों का उल्लेख करते हुए कहा कि बाबा टिकैत ने सभी को जाती और धर्म से ऊपर उठाकर इकठ्ठा किया। तब एकता की ही ताकत थी कि सरकार को उनकी बात सुनने के लिए मजबूर होना पड़ता था। उन्होंने कहा कि मेरा तो ये मानना है कि बाबा टिकैत के लिए सच्ची श्रदांजलि ये होगी कि हम लड़ाई-झगड़ों को भुलाकर फिर से एक होकर अपने हित के लिए संघर्ष करें।

कर्नाटक में जमीन खिसकते ही यूपी में कांग्रेसी हुए उग्र, किया ऐसा काम कि योगी सरकार के छूटे पसीने

चौधरी टिकैत के संघर्षों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि बाबा ने आरपार की लड़ाई बहुत बार लड़ी, लेकिन झूठे वादे कभी नहीं किये गए। हालांकि वह उनके जैसा संघर्ष आसान काम नहीं है। लेकिन अब तो सिर्फ वादे-वादे सुनते हैं। आज की सरकार में करने का इरादा नहीं हैं। अगर उनकी विरासत को संभाल कर रखना चाहते हो तो चौधरी चरण सिंह ने तुम्हे पहचान दी थी, उसे फिर से स्थापित करना होगा। चौधरी टिकैत ने इकठ्ठा करके सरकार को सुनने के लिए मजबूर किया था। इसलिए अगर आज भी अपनी इस ताकत और धाक को बनाए रखना चाहते है तो किसानों को फिर से इकठा हो जाना चाहिए। वरना कोई किसानों को पूछने वाला नही है। उन्होंने कहा कि जब तुम इकठ्ठे हो जाओगे तो कोई परेशानी नहीं होने वाली है, जो कुव्वत संघर्ष करने की इस इलाके के लोगों में है। वह देशभर में कही नही है। जब भी किसान की लड़ाई लड़ी जाती है शुरुआत इसी इलाके से होती है और आप ही लोग ही उसमें आगवानी करते रहे हैं।

नाबालिग युगल एक दूसरे से करता था प्यार , जब प्रेमी को प्रेमिका के 10 और बॉयफ्रेंड्स का चला पता तो किया...

इसके बाद उन्होंने इशारों में केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुआ कहा कि आज जितनी बुरी हालत किसान की है। आजादी के बाद ऐसी हालत कभी नहीं हुई । इस के बाद उन्होंने किसानों का गन्ना खरीदी का मुद्दा उठाते हुए भी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि किसानों का गन्ना नहीं कऱीदे जाने पर कहा कि अभी तो हालत ये है कि दाम तो छोड़ों, जो दाम है उसपर भी गन्ना की खरीदी नहीं हो रही है। इसके अलावा डीजल की बढ़ती कीमत पर कहा कि आजादी के बाद डीजल कभी भी इतना महंगा नहीं हुआ जितना आज है। अजीत सिंह ने आरोप लगाया कि देश के किसानों को उचित मूल्य नहीं मिल रहा है और बाहर से चीनी हो, गेहू हो या दाल सब बाहर से मंगाई जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों को तो समर्थन मूल्य भी नहीं मिल रहा है।


इसके बाद उन्होेंने कहा कि आपको मालूम कि ट्रैक्टर कितने साल चलाते हो, अब 10 साल बाद नया खरीदना पड़ेगा। इसके बाद उन्होंने किसानों से पूछा कि क्या खरीद लोगे। इसके अलावा 10 साल बाद इंजन पम्प सेट भी बदलना पड़ेगा। बिजली का रेट 150 प्रतिशत बढ़ गया। पहले मार्च में छूट मिल जाती थी अब अब तो एफआईआर लिख रहे है । इसके बाद उन्होंने कहा कि यहाँ सभी पार्टियों के लोग हैं। ये सभी बाबा टिकैत को बराबर मानते रहे हैं, इसलिए में राजनीति की बात नही कर रहा हुं। किसान चाहे किसी भी दल में हो, उसकी स्थिति ठीक नहीं है । ये बातें चोधरी अजित सिंह ने स्वः चोधरी महेन्द्र सिंह टिकैत की 7वीं पूण्यतिथि पर आयोजित सभा में कही। जब वह बोल रहे थे तो उस दौरान मंच पर भाजपा के सांसद संजीव बालियान , कैराना से लोकसभा उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी मृगांका सिंह के अलावा बालियान खाप के मुखिया भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत, बत्तीसा खाप के मुखिया चौधरी सूरजमल,लटियान खाप के मुखिया चौधरी वीरेंद्र सिंह, गठवाला खाप के थांबेदार चौधरी श्याम सिंह, खाप पंचायत के मंत्री चौधरी सुभाष बालियान, अहलावत खाप के मुखिया चौधरी गजेंद्र सिंह अहलावत सहित कई खापों के चौधरी शामिल रहे। इसके अलावा राजनीतिक दलों के नेता उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना मंत्री सुरेश राणा, कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण, बुढाना से विधायक उमेश मलिक , शामली से विधायक तेजेंद्र निर्वाल सहित अन्य कई भाजपा नेता शामिल रहे। वहीं समाजवादी पार्टी की अगर बात करें तो समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य संजय लाठर, विधान परिषद सदस्य सुनील साजन, पूर्व कैबिनेट मंत्री विधान परिषद सदस्य चौधरी वीरेंद्र सिंह, राकेश शर्मा, प्रोफेसर सुधीर पवार, सपा नेता लियाकत अली सहित कई अन्य सपा नेता शामिल रहे। इसके अलावा पूर्व विधायक राजपाल बालियान पूर्व मंत्री धर्मवीर बालियान, अशोक बालियान, जिला अध्यक्ष अजीत राठी, सुधीर भारती सहित सैकड़ों रालोद नेता शामिल थे। भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष राजू अहलावत भी दल बल के साथ चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत की पुण्यतिथि पर श्रद्धा सुमन अर्पित करने पहुंचे थे। श्रद्धांजलि सभा के बाद राष्ट्रीय लोकदल मुखिया चौधरी अजित सिंह ने नरेश टिकैत के साथ उनके आवास पर पहुंचे। जहां उन्होंने कई नेताओं के साथ बैठकर घर के बने खाने का भी लुफ्त उठाया

 

 

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned