नोटबंदी में कर रहे थे खुल्ला खर्चा, पुलिस ने मारे दो थप्पड़ तो हुआ चौंकाने वाला खुलासा

नोटबंदी में कर रहे थे खुल्ला खर्चा, पुलिस ने मारे दो थप्पड़ तो हुआ चौंकाने वाला खुलासा
Govt decides to print plastic currency notes to check counterfeiting

sandeep tomar | Publish: Dec, 09 2016 07:01:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

गांव के कुछ युवक नोटबंदी में भी जमकर मस्ती कर रहे थे, गांव वालों ने ये बात पुलिस को बताई तो...

सहारनपुर। बेहट क्षेत्र में बाबैल बुजुर्ग स्थित स्टेट बैंक की शाखा में सेंध लगाकर दस लाख रुपये की नकदी चाेरी करने वाले गिराेह के एक सदस्य काे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बकाैल पुलिस पकड़े गए अभियुक्त के कब्जे से 50 हजार रुपये की नकदी बरामद हुई है। पुलिस का कहना है कि जल्द इसके फरार साथियाें काे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः नोटबंदी के इस दौर में ये कंपनी देगी 20 हजार नौकरियां

चुराए थे पचास लाख


बता दें कि 19 नवंबर काे बेहट के बाबैल बुजुर्ग स्थित स्टेट बैंक की शाखा में दस-दस के नाेट का 10 लाख कैश पहुंचा था। यह कैश अगले दिन क्षेत्र के लाेगाें में बंटना था। इससे पहले की बैंक यह रुपया क्षेत्र के लाेगाें काे दिया जाता रात में चाेराें ने बैंक शाखा की दीवार में सेंध लगाकर 50 लाख रुपये के नकदी चाेरी कर ली थी आैर फरार हाे गए थे। इस घटना का खुलासा करते हुए अब एसपी देहात ने बताया कि बेहट थाना क्षेत्र के गांव मलकपुर हुसैन के रहने वाले नासिर काे गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ेंः चुनाव से पहले अखिलश ने किसानों को दिए करोड़ों रुपए

जमकर हो रही थी ऐश

नासिर ने पुलिस काे बताया कि उसने अपने साथीे राकेश उर्फ राका नाथी उर्फ अफजाल आैर टीटू उर्फ बहरा के साथ मिलकर बैंक से कैश चुराया था। पुलिस इन बदमाशाें काे तलाशती रही आैर ये सभी बेहट कस्बे में ही चाेरी की रकम काे खुलकर खर्च करते रहे। पुलिस पूछताछ में यह बात भी सामने आई कि इन्हाेंने एक इंडिका कार भी खरीदी थी। इस तरह ये लाेग खुलकर खर्च कर रहे थे। पुलिस अभी तक एक ही सदस्य काे गिरफ्तार कर पाई है जबकि, घटना काे अंजाम देने वाले गिराेह के अन्य सदस्य अभी भी फरार हैं।

यह भी पढ़ेंः उत्तर प्रदेश चुनाव 2017 पर संशय में शिवसेना

एेसे पकड़े गए चाेरी करने वाले

दरअसल, बेहट कस्बे में नाेटबंदी के बाद से ही लाेगाें के पास पैसे की किल्लत थी। आम जनता काे यहां जरूरी कार्याें के लिए पैसे जुटाने के लिए बैंकाें की लाईन में लगना पड़ रहा था आैर इसी क्षेत्र में रहने वाले राकेश, नाथी, टीटू आैर नासिर के पास पैसाें की कमी नही थी। ये खुलकर खर्च कर रहे थे। इसके बाद इन्हाेंने दस-दस के नाेटाें से ही एक ही इंडिका कार भी खरीदी थी। इस तरह गांव काे शक हुआ कि आखिर इनके पास इतनी रकम कहां से आ रही है। गांव वालाें ने इसकी खबर पुलिस काे कर दी आैर पुलिस ने नासिर काे हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की ताे इस घटना का खुलासा हाे सका।

यह भी पढ़ेंः मेक इन इंडिया को लगाया पलीता, चीन से मंगाए मेट्रो कोच

राकेश ने की थी रेकी


पुलिस के मुताबिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि राकेश ने पहले बैंक शाखा की रेकी की थी। वह पैसे जमा कराने के बहाने बैंक के अंदर गया आैर उसने देखा था कि, बाथरूम कहा हैं आैर कहां से वह दीवार में सेंध लगाकर आसानी से बैंक शाखा में अंदर घुस सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः आज तक किसी ने नहीं छपवाया बेटी की शादी में ऐसा कार्ड

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned