UP के इस शहर में आवारा कुत्तों का आतंक, एक रात में 6 लोगों को किया घायल

UP के इस शहर में आवारा कुत्तों का आतंक, एक रात में 6 लोगों को किया घायल

Iftekhar Ahmed | Updated: 25 Jun 2018, 03:24:19 PM (IST) Muzaffarnagar, Uttar Pradesh, India

सीतापुर के बाद शामली में कुत्तों का आतंक, 6 लोगों पर हमला, हालत गंभीर

शामली. प्रदेश में योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद स्लाटर हाउस बंद करने से न सिर्फ मांस का कारोबार करने वाले बेरोजगार हुए हैं, बल्कि इसके सहारे अपना पेट भरने वाले कुत्ते भी अब बेहाल हैं। हालात ये हो गए हैं कि कुत्ते आदमखोर बनकर अब लोगों की जीना मुश्किल कर दिया है। उत्तर प्रदेश के सीतापुर में कुत्तों के आतंक के बाद अब शामली में स्थानीय लोगों पर कुत्तों ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। यहां देर रात कुत्तों ने 6 लोगों पर हमला करके गंभीर रूप से घायल कर दिया। सभी घायलों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है, जहां इन घायलों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें- 6 महीने में भी जमीन पर नहीं उतरी मोदी सरकार की स्वास्थ्य बीमा योजना तो एक मरीज ने उठाया यह कदम

स्थानीय लोगों ने बताया कि आदमखोर कुत्तों ने शनिवार की रात अचानक उनके ऊपर हमला कर दिया। इस हमले में एक दो नहीं, बल्कि छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। स्थानीय लोगों ने आनन-फानन में घायलों को अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि घायलों का मरहम पट्टी करने के साथ ही उन्हें रैबीज का इंजेक्शन दे दिया गया है।

यह भी पढ़ें- UP में सैकड़ों दलितों ने इस वजह से छोड़ा हिन्दू धर्म, इस मजहब का थामा दामन, RSS में बढ़ी बेचैनी

लोगों का इलाज अभी अस्पताल में चल रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक कुत्तों के काटने के बाद घायल हुए लोगों की हालत गंभीर है। इस घटना के बाद से स्थानीय लोगों में भारी रोष है। घटना से गुस्साए स्थानीय लोगों और घायलों के परिजनों ने शामली पुलिस थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराई है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के ही सीतापुर जिले में बीते महीने कुत्तों का आंतक देखने को मिला था। यहां पर एक के बाद एक लगातार बच्चों पर कुत्तों के हमले हुए थे। इस हमले में आदमखोर कुत्तों ने 14 बच्चों की जान ले ली थी, जबकि 50 से ज्यादा बच्चे घायल हुए थे। सीतापुर की इस घटना से पूरे प्रदेश का सरकारी तंत्र हिल गया था। खुद सीएम योगी ने भी इस केस को संज्ञान में लिया था और मृत बच्चों के परिजनों से मुलाकात भी की थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned