दवा व्यापारी की हत्या के बाद हुआ बड़ा खुलासा, बदमाशों के डर से दर्जनों व्यापारियों ने किया पलायन

Highlights

- मोरना के दवा व्यवसायी अनुज कर्नवाल की हत्या का मामला

- पीड़ित परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान समेत विपक्ष के कई नेता

- डॉ. संजीव बालियान ने उतरवाया दुकान बिकाऊ है का बैनर

By: lokesh verma

Published: 20 Sep 2020, 10:14 AM IST

मुजफ्फरनगर. तीन दिन पहले हुई दवा व्यवसायी की हत्या के बाद दर्जनों व्यापारियों के पलायन का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि पिछले कई माह से क्षेत्र में बदमाशों की कारगुजारी के चलते व्यापारी पलायन करने को मजबूर हैं। इसका खुलासा दवा व्यवसायी अनुज कर्नवाल की हत्या के बाद हुआ है। व्यापारी की हत्या के बाद मोरना में राजनीतिक और गैर राजनीतिक दलों के नेताओं का जमावड़ा लगना शुरू हुआ तो गांव के व्यापारियों का भी गुस्सा फूट पड़ा। मोरना में पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के सामने व्यापारियों ने अपनी समस्याएं रखीं, जिसमें खुलासा हुआ कि लगभग दर्जनों व्यापारी बदमाशों के डर की वजह से गांव से पलायन कर गए हैं। बताया जा रहा है कि पिछले काफी समय से यहां बदमाश व्यापारियों को डरा धमकाकर रंगदारी वसूलने का काम कर रहे हैं, जिसकी पुलिस को खबर तक नहीं थी।

यह भी पढ़ें- चार साल पहले जेल से फरार हुआ आजीवन कारावास का कैदी ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे, देखें वीडियो

दरअसल, थाना भोपा क्षेत्र के गांव मोरना में तीन दिन पहले व्यापारी अनुज की ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या की गई थी। शनिवार को मृतक व्यापारी अनुज कर्णवाल के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने घटना पर दुख जताते हुए अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने खुद बाजार में जाकर व्यापारी की दुकान के बाहर लगा यह दुकान बिकाऊ है का बैनर उतरवाया। इसके बाद केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का एसएससी अभिषेक यादव के खिलाफ भी गुस्सा देखने को मिला, क्योंकि घटना के बाद से एसएसपी अभिषेक यादव पीड़ित परिवार को सांत्वना देने तक नहीं पहुंचे और न ही आरोपी बदमाशों तक पुलिस पहुंच पाई है।

इस दौरान भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत भी मौके पर पहुंचे। पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए उन्होंने कहा कि घटना का खुलासा जल्द हो और आरोपी सलाखों के पीछे होने चाहिएं। ऐसी घटना होना सरकार के लिए अपने आप में एक बड़ा मामला है। वहीं, बसपा के पूर्व सांसद राजपाल सैनी ने भी घटना पर दुख जताया और खुलासा करने की मांग की। समाजवादी पार्टी का डेलिगेशन भी मोरना पहुंचा। सपा विधायक व सपा व्यापार प्रकोष्ठ के पदाधिकारी संजय गर्ग ने व्यापारियों के उत्पीड़न का मुद्दा उठाते हुए सरकार को हर मोर्चे पर विफल करार दिया।

यह भी पढ़ें- आगरा में फायरिंग कर दहशत फैलाने वालों की पहचान बताएगा सीसीटीवी, देखें वीडियो

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned