कैराना में पुलिस पर फायरिंग कर बदमाश को छुड़ाया

कैराना में पुलिस पर फायरिंग कर बदमाश को छुड़ाया
UP Police

sandeep tomar | Publish: Dec, 04 2016 08:40:00 PM (IST) Muzaffernagar, Uttar Pradesh, India

कैराना में इससे पहले भी पुलिस पर हमला कर बदमाशों को छुड़ाने की घटनाएं हो चुकी हैं

शामली। पुलिस के कार्य में बाधा ड़ालने में वांछित चल रहे गांव पावटीकलां निवासी एक आरोपी के घर भारी मात्रा में स्मैक की सूचना पर दबिश देने पहुंची पुलिस टीम पर पथराव के बाद फायरिंग की गई। घटना में तीन दरोगा सहित एक कांस्टेबल घायल हो गए। पुलिस की पिटाई की सूचना से विभाग में हड़कंप मच गया। एसपी कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ गांव पहुंचे और जांच पड़ताल की। जिसके बाद पुलिस ने महिला समेत 12 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

ये है पूरा मामला

रविवार की दोपहर कैराना पुलिस को गांव पावटीकलां निवासी आलिम उर्फ मास्टर पुत्र नूरा के घर पर भारी मात्रा में तस्करी की स्मैक होने की सूचना मुखबिर से मिली। सूचना पर कोतवाली ने उसके मकान पर छापामारी शुरु कर दी। बताया जाता है कि इस दौरान आरोपी के परिजनों ने पुलिस टीम पर पथराव फायिंरग करते हुए बंधक बना लिया और जमकर धुनाई कर वर्दी फाड़ दी। घटना में एसआई आदेश कुमार, देवसिंह रावत, जितेंद्र और कांस्टेबल शकील घायल हो गए। पुलिस टीम पर हमले की सूचना मिलते ही विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में एसपी डा. अजयपाल शर्मा कई थानों की पुलिस पीएसी फोर्स के साथ गांव पहुंचे, तो आरोपी घर छोड़कर फरार हो गए। घायल पुलिस कर्मियों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। एसपी ने बताया कि ने बताया कि आलिम धारा 406 के एक मुकदमे में वाछित था इसके अलावा इसके बाद स्मैक होने की सूचना मिली थी। जिसपर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए छापामारी की थी। पुलिस ने मौके पर हमले में उपयोगी हथियार बरामद किए है।

पहले भी खनन माफियाओं ने दौड़ाकर पुलिस को पीटा था

20 सितंबर को जिस समय कैराना कोतवाली से पुलिस टीम गंदराऊ गांव में अवैध रेत खनन करने वाले माफियाओं को पकड़ने गई थी तो उस समय भी माफियाआें तथा उनके गुर्गों ने पुलिस पर कातिलाना हमला किया था। सरकारी वाहनों में तोड़फोड़ तक हुई थी। पुलिसकर्मियों पर रेत से भरे वाहन उतारने का भी प्रयास हुआ था। माफियाओं की फायरिंग में दरोगा व कई सिपाही घायल हुए थे। इस हमले में बीस नामजदों सहित डेढ सौ अज्ञात के खिलाफ मुकदमा कायम हुआ था। वहीं, एक अन्य खादर में भी पुलिस के साथ मारपीट की गई थी।

पुलिस टीम को आग लगाने का प्रयास

वांछित आलिम के घर पर दबिश देने गई पुलिस टीम के सदस्यों को आरोपी तथा उसके परिजनों द्वारा आग के हवाले करने का प्रयास किया गया। पुलिस के अनुसार, गैस सिलेंडरों से आग लगाने की कोशिश नाकाम रही। मौके से दो फावडे, एक तमंचा, दो गैस सिलेंडर तथा एक दांती के अलावा डिस्कवर बाइक भी पुलिस ने बरामद की है।

पुलिस दे रही दबिश

कैराना पुलिस टीम को बंधक बनाकर उन पर कातिलाना हमला करने वाले आरोपियों के विरूद्ध पुलिस की ताबड़तोड़ दबिश जारी है। पुलिस आरोपियों को बख्शने के मूड में नहीं है। कोतवाल कहते हैं कि हमलावरों को पकड़ने के लिए पुलिस गांव में दबिश पर गई हुई है। शीघ्र ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पुलिसकर्मियों पर घर में घुसकर तोड़फोड़ करने का आरोप


पुलिस टीम पर हमले के दौरान आलिम के भाइयों तथा एक अन्य ने पुलिसकर्मियों द्वारा उनके घर में घुसकर तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। आरोपी के भाई फरमान व अब्बल तथा एक अन्य कामिल पुत्र तौफा के घर में सामान खुर्दबुर्द पड़ा हुआ था और कुछ सामान टूटा-फूटा भी पड़ा हुआ था। उनका आरोप था कि पुलिसकर्मियों ने अपनी बर्बरता दिखाते हुए तोड़फोड़ की। कामिल की पत्नी फुरकाना व लड़की आयशा ने बताया कि तोड़फोड़ के दौरान उन्होंने पुलिसकर्मियों से कहा था कि हमारे घर में क्यों तोड़फोड़ कर रहे हो, लेकिन किसी की नहीं सुनी गई। उपरोक्त घरों में वॉशिंग मशीन, घास मशीन, चारपाई व कुर्सी आदि सामान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त पड़ा हुआ था।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned