मेडिकल कॉलेज बना सुसाइड प्वाइंट, 72 घंटे में दो लोगों ने की आत्महत्या

Highlights:

-कुछ वर्षों में मेडिकल कॉलेज में कई सुसाइड के मामले आ चुके सामने

-पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया

-दो दिन पहले ही कोरोना मरीज ने किया था सुसाइड

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Jan 2021, 11:16 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मुजफ्फरनगर। जनपद में मेडिकल कालेज इन दिनों सुसाइड प्वाइंट बनता नजर आ रहा है। जहां 14 जनवरी को मेडिकल कालेज में बने कोविड़ केयर सेंटर की चौथी मंजिल से एक कोरोना पोजेटिव मरीज ने कूदकर आत्महत्या को 2 दिन भी पूरे नहीं हुए कि इसी मेडिकल कालेज में नर्सिंग विभाग के एक स्टाफ ने अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटना की सूचना मिलते ही कालेज प्रशासन के साथ साथ क्षेत्र में भी हड़कम्प मच गया। मामले की जानकारी पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले की छनबीन शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें: सूर्यास्त के बाद यमुना नदी से रेत खनन का वीडियो वायरल, ठेकेदारों ने मोड़ दी मुख्य जलधारा

दरअसल, जनपद मुज़फ्फरनगर में थाना मंसूरपुर क्षेत्र के बेगराजपुर स्थित मुज़फ्फरनगर मेडिकल कालेज एवं हॉस्पिटल इन दिनों आत्महत्याओं को लेकर चर्चाओं में है। क्योंकि यहां 2 दिन पहले थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के पचेन्डा रोड लालबाग निवासी राजकुमार पुत्र रोहताश ने कालेज में बने कोविड़ केयर सेंटर की चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। जिसमें मृतक के परिजनों ने हॉस्पिटल स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कई घंटों तक हंगामा किया था।

यह भी देखें: शातिर वाहन चोर गिरफ्तार

वहीं शनिवार को फिर मेडिकल कालेज में नर्सिंग स्टाफ 25 वर्षीय मोहित निवासी इलाहाबास थाना भोपा ने अपने रूम 153 में फांसी के फंदे पर लटक कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक मोहित के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया और मामले की छानबीन शुरू कर दी। गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज में पिछले कुछ वर्षों में आत्महत्याओं के आधा दर्जन से भी ज्यादा मामले हो चुके हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned