Muzaffarnagar एसएसपी ने कहा— अलविदा जुमे व ईद की नमाज घरों में ही अदा करें

Highlights

  • एसएसपी ने मुस्लिम समाज के लोगों से की अपील
  • लोगों को लॉकडाउन का पालन करने को कहा
  • सभी तरह के धार्मिक कार्यक्रमों पर है पाबंदी

 

मुजफ्फरनगर। जनपद में लॉकडाउन के चलते जुमे और ईद की नमाज को लेकर एसएसपी अभिषेक यादव ने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील है। उन्होंने एक संदेश के जरिये घरों में रहकर ही नमाज अदा करने की अपील की है। साथ ही उन्होंने जनपद वासियों से लॉकडाउन का पालन करते हुए पिछले दिनों की तरह सहयोग देने को कहा है।

फीका रहेगा र्दइ का त्योहार

कोरोना वायरस ने दुनिया भर में ऐसी तबाही मचाई है कि लोगो को जान बचाने के लाले पड़ रहे हैं। हिंदुस्तान के लोगों को कोविड—19 से बचाने के लिए लॉकडाउन लागू किया गया है। इसका गुरुवार को 58वां दिन है मगर देश मे कोरोना के मरीजो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस वजह से सभी धार्मिक, राजनीतिक और भीड़—भाड़ वाले कार्यक्रम पूरी तरह से प्रतिबंधित हैं। इस बार मुस्लिमों का सबसे खास ईद का त्योहार भी फीका ही रहेगा।

यह भी पढ़ें: Noida: इन शर्तों साथ एजुकेशनल इंस्टीट्यूट खोलने की मिली अनुमति

मस्जिदों व ईदगाहों पर रहेंगे ताले

इस बार मस्जिदों व ईदगाहों पर ताले ही रहेंगे। अलविदा जुमा और ईद की नमाज लोगों को अपने घरों में रहकर ही अदा करनी होगी। इसको लेकर मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव ने मुस्लिम समुदाय के लोगों से अपील की है कि वे जिस तरह अब तक जुमे की नमाज के साथ अन्य नमाजें भी अपने घरों पर पढ़ रहे थे, ठीक उसी तरह अब भी इसी क्रम को लगातार जारी रखें। अलविदा जुमे व ईद की नमाज को भी अपने ही घरों पर अदा करें।

यह भी पढ़ें: Ground Report: रामपुर के सपा सांसद व विधायक जेल में, पार्टी कार्यकर्ता हुए गायब, वोट देने वाली जनता को पूछने वाला कोई नहीं

एसएसपी ने जताई उम्मीद

एसएसपी अभिषेक यादव का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि बिना अनावयशक कार्य के कोई भी व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलेगा। किसी भी धार्मिक कार्य के लिए इकठ्ठा होने की इजाजत नहीं है। अपने घरों में रहकर सभी धार्मिक कार्य पूरे करें। अगर किसी भी व्यक्ति के द्वारा लॉकडाउन का उल्लंघन किया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned