इस गांव में हुई पंचायत को माना जाता है मुजफ्फरनगर दंगे का जिम्मेदार-जानें

दंगे का केस ACJM-2 मधु गुप्ता की कोर्ट में चल रहा है। दंगे की जांच यूपी सरकार द्वारा गठित SIT द्वारा की जा रही है और यह जांच लगभग पूरी होने को है।

By:

Published: 16 Dec 2017, 09:02 PM IST

मुजफ्फरनगर। जिले में सितंबर 2013 में हुआ सांप्रदायिक दंगा राजनीतिक लोगों का पीछा नहीं छोड़ रहा है, जिसमें 27 अगस्त 2013 को थाना कोतवाली क्षेत्र के गांव कवाल में पास के ही गांव मलिकपुरा की युवती से छेड़छाड़ का विरोध करने के लिए पीड़िता के दो भाई सचिन व गौरव ने आरोपी युवक शहनवाज के साथ मारपीट शुरु की जिसमें शहनवाज की मौत हो गई।

इसके बाद गुस्साई भीड़ ने सचिन और गौरव को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। इसी बात को लेकर दो समुदायों में तनाव पैदा हो गया और यह तनाव बढ़ते-बढ़ते इतना बढ़ा कि पंचायतों का दौर शुरू हो गया, जिसमें पहले 30 अगस्त को नगला मंदौड़ में पंचायत रखी गई। इसकी जानकारी जब दूसरे समुदाय को हुई तो उन्होंने उससे पहले ही 29 अगस्त को मुजफ्फरनगर शहर के खालापार में एक बड़ी पंचायत का आयोजन किया। पंचायत में भड़काऊ भाषण तक दिए गए उसके बाद 31 अगस्त को नगला मंदौड़ में पंचायत हुई और पंचायत बेनतीजा समाप्त हो गई।

इस पंचायत को माना जाता है दंगे का जिम्मेदार
उसके बाद भारतीय किसान यूनियन ने 7 सितंबर को उसी स्थान पर नंगला मंदौड़ इंटर कॉलेज के मैदान में पंचायत का आयोजन किया गया, जिसमें लाखों लोग पहुंचे। जहां भाजपा नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिए और इसी पंचायत के समाप्त होने पर पूरे जनपद में दंगा भड़क गया। उसके बाद पंचायत से वापस लौटते समय ट्रैक्टर ट्रॉलियों पर हमला किया गया और इसी हमले के विरोध में थाना फुगाना थाना शाहपुर क्षेत्र के नौ गांव में दंगा पूरी तरह से भड़क गया। इस पूरे दंगे में 60 से भी ज्यादा लोगों ने अपनी जान गवाई और लगभग 50000 से भी ज्यादा लोग बेघर हो गए।

Muzaffarnagar riots

इनके खिलाफ जारी हुए गैर जमानती वारंट
पूरे दंगे की जांच उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गठित एसआईटी द्वारा की जा रही है और यह जांच लगभग पूरी होने को है। अब 31 अगस्त 2013 को थाना सिखेड़ा क्षेत्र के गांव नंगला मंदौड़ में हुई पंचायत में भड़काऊ भाषण देने के मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, उत्तर प्रदेश सरकार में वर्तमान गन्ना राज्यमंत्री सुरेश राणा, बुढ़ाना से विधायक उमेश मलिक, मेरठ की सरधना विधानसभा सीट से विधायक संगीत सोम , बिजनौर लोकसभा क्षेत्र से सांसद कुंवर भारतेंद्र सिंह, विश्व हिंदू परिषद नेत्री साध्वी प्राची आर्य सहित कोर्ट ने 11 लोगों के खिलाफ गैर जमानती जारी कर दिए हैं।

एसीजेएम-2 मधु गुप्ता की कोर्ट में चल रहा है केस
ये प्रकरण एसीजेएम-2 मधु गुप्ता की कोर्ट में चल रहा है। इस प्रकरण में सात सितम्बर 2013 को नंगला मंदौड में हुई पंचायत में सांसद, विधायक समेत 11 लोग नामजद हैं। इस मामले में अगली सुनवाई 19 जनवरी को होगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned