पुलिस की गिरफ्त में आए अटैची चोर गिरोह के दो सदस्य, कारनामे जानकर उड़ जाएंगे होश

Highlights:

-मामला थाना रामराज क्षेत्र का है

-चोरों ने कुछ समय पहले ही दंपति से चोरी की थी

-माल का बंटवारे करते चोर गिरफ्तार, फरार की तलाश

By: Rahul Chauhan

Published: 28 Feb 2021, 02:45 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मुजफ्फरनगर। जनपद में थाना रामराज पुलिस को उस समय बड़ी सफ़लता मिली जब मुखबिर की सूचना पर अटैची चोर गिरोह के दो सदस्यो को धर दबोचा गया। वहीं उनके दो साथी मौके से फरार होने में कामयाब रहे। पकड़े गए चोरों के कब्जे से पुलिस ने नकदी, गहने, चोरी की बाइक सहित अवैध तमंचा और कारतूस बरामद किये हैं।

यह भी पढ़ें: बिजली चोरों ने SDO और JE को बनाया बंधक, सपा विधायक ने भी सुनाई खरी-खोटी

दरअसल, शनिवार को थाना रामराज पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि गांव पुट्ठी इब्राहीमपुर निवासी नाजिम के मकान में अटैची चोर गिरोह के कई सदस्य चोरी के माल का बंटवारा कर रहे हैं। मुखबिर की इसी सूचना पर पुलिस ने बताए स्थान पर छापेमारी की तो पुलिस को अपनी ओर आता देख दो चोर मकान की छत के रास्ते मौके से फरार हो गए, जबकि पुलिस ने दो चोरों को मौके पर ही दबोच लिया। पुलिस ने दोनो के पास से नकदी व चोरी के गहनो सहित एक चोरी की बाइक सहित दो 315 बोर के तमंचे व 4 जिन्दा कारतूस बरामद किए। पुलिस पूछताछ में दोनो चोरों ने अपना नाम फरियाद पुत्र फरीद व दिलशाद पुत्र शाहिद निवासी पुट्ठी इब्राहिमपुर थाना रामराज बताया। फरार चोरों ने नाम आशमोहम्मद पुत्र रियाजुद्दीन व नाजिम पुत्र नजमी निवासी पुट्ठी इब्राहिमपुर बताया।

यह भी देखें: पुलिस ने किया अवैध पटाखा फैक्ट्री का भंडाफोड़

सीओ जानसठ शकील अहमद ने बताया कि चारो आरोपितों ने एक दिन पूर्व दिल्ली से बिजनोर जा रहे बिजनोर निवासी कार चालक इरशाद से लिफ्ट लेकर उसकी पत्नी के सोने चांदी के जेवर व 30 हज़ार की नकदी चोरी कर ली थी। आरोपितों के पास से चोरी की गई 30 हज़ार की नकदी, कान के कुंडल, एक जोड़ी पैर की पाजेब सहित एक चोरी की बाइक बरामद हुई है। फरार आरोपित आशमोहम्मद पूर्व में जिला बदर रहा है व सक्रीय अपराधी है। पुलिस ने दोनो आरोपितों का चालान कर दिया है। फरार दोनों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी गई है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned