शराब पीने वाले हो जाएं सावधान, इस तरह की व्हीसकी से कहीं चली न जाए जान!

Highlights:

-पुलिस ने अवैध शराब की फैक्ट्री पर मारा छापा

-तीन को पुलिस ने किया गिरफ्तार

-मौके से भारी मात्रा में शराब बरामद

By: Rahul Chauhan

Updated: 02 Jul 2020, 03:45 PM IST

मुजफ्फरनगर। जनपद में थाना नई मंडी कोतवाली पुलिस को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी है जब पुलिस में मुखबिर की सूचना पर एक मकान में छापेमारी करते हुए अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। इस दौरान मौके से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में अपमिश्रित शराब व अवैध शराब बनाने के उपकरण बरामद किये हैं। पकड़ी गई अवैध शराब की कीमत लगभग 10 लाख रुपये बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें : इस पाकिस्तानी टैंक की देख-रेख करती है भारतीय सेना, जानिए क्यों

पुलिस अधीक्षक नगर सतपाल अंतिल ने बताया कि थाना नई मंडी कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि थाना क्षेत्र के मोहल्ला अंकित विहार में कुछ लोग एक मकान में भारी मात्रा में अवैध शराब बनाकर बेच रहे हैं। जिसके चलते थाना नई मंडी के प्रभारी निरीक्षक योगेश शर्मा ने पुलिस टीम को साथ लेकर मोहल्ला अंकित विहार निवासी संजीव उर्फ काला पुत्र वेदपाल के मकान पर छापेमारी की जिसमे पुलिस ने मौके से 505 पव्वे नकली शराब, 2226 खाली पव्वे, कोड बार तथा भारी मात्रा में अवैध शराब बनाने के उपकरण तथा केमिकल आदि बरामद किए। पुलिस ने मौके से गौरव उर्फ विश्वेंद्र पुत्र मुन्नू पुत्र उपेंद्र निवासी अंकित विहार, टीटू पुत्र मोतीराम निवासी शिवनगर तथा सन्नी पुत्र नरेश निवासी ग्राम रुहासा थाना दौराला जिला मेरठ को गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें: पत्नी को गोली मारकर लाश के पास ही बैठा रहा आरोपी पति, जानिए पूरा मामला

एसपी सिटी ने बताया कि पकड़े गए अभियुक्तों के कब्जे से बरामद हुए माल की कीमत करीब 10 लाख रुपये आंकी गई है। अवैध शराब की फैक्ट्री का खुलासा करने वाली टीम में थाना नई मंडी के प्रभारी निरीक्षक योगेश शर्मा, एसएसआई संजय कुमार, एसआई अनिल कुमार सागर, एसआई चंद्रसेन सैनी, हेड कांस्टेबल हरेंद्र सिंह, कांस्टेबल तरुण पाल, सुखिंदर, प्रमोद शर्मा, राजीव कुमार, छोटेलाल, अमित कुमार आदि शामिल रहे।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned